हरदीप रंधावा, अमृतसर

शहर में मौजूद पावरकॉम के खस्ताहाल और टेढ़े खंभे किसी भी समय जानी-माली नुक्सान का सबब बन सकते हैं, लेकिन इन्हें हटाने के लिए पावरकॉम गंभीर नजर नहीं आ रहा।

सुल्तानविड रोड स्थित कोट आत्मा राम और बटाला रोड स्थित मोहिद्रा कॉलोनी में पावरकॉम के खस्ताहाल खंभों से होने वाली दुर्घटनाओं का खतरा आज भी लोगों पर मंडरा रहा है। पिछले समय में सब-अर्बन सर्किल के तहत पड़ती साउथ सब-डिवीजन में पड़ती निक्का ंिसंह कॉलोनी में ऐसे ही एक खंभे की चपेट में आकर एक दंपती घायल हुआ था। दंपति के बुरी तरह से चोटिल होने की इस हादसे के बाद पावरकॉम की नींद टूटी और सिटी व सब-अर्बन सर्किल के विभिन्न हिस्सों से टेढ़े और खस्ताहाल खंभों को हटाना शुरू किया गया था। बावजूद इसके आज भी कई इलाकों में स्थिति ज्यों की त्यों बनी हुई है।

हादसा हो जाए तो कौन जिम्मेदार होगा

सिटी व सब-अर्बन सर्किल के तहत पड़ते विभिन्न हिस्सों में आज भी कई जगहों पर खस्ताहाल खंभे मौजूद हैं, जो किसी भी समय बड़े हादसे का कारण बन सकते हैं। सिटी व सब-सर्किल के विभिन्न हिस्सों के निवासी शाम सिंह, किशन कुमार, सुरिदर सिंह, निशान सिंह का कहना है कि पावरकॉम को सबकुछ पता है, लेकिन कोई कदम नहीं उठा रहा। यदि कोई हादसा हो गया तो जिम्मेदार कौन होगा। पावरकॉम को गंभीरता दिखाते हुए खस्ताहाल व टेढ़े खंभों को तुरंत हटाना चाहिए।

खंभों को बदलने के आदेश जारी किए जाएंगे

बॉर्डर जोन के चीफ इंजीनियर प्रदीप कुमार सैनी का कहना है कि सिटी व सब-अर्बन सर्किल में खस्ताहाल व टेढ़े खंभों को बदलने के लिए आदेश जारी किए जाएंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!