जागरण संवाददाता, अमृतसर

कर्मचारी निधि विभाग के क्षेत्रीय कमिश्नर निशांत यादव ने कहा कि पीएफ सदस्य कहीं से भी विभाग के पोर्टल से ऑनलाइन अपने खाते को चेक कर सकते हैं। इतना ही नहीं अगर नाम या किसी अन्य तरह की गलती रह गई हो तो इसकी दुरुस्ती के लिए उन्हें पीएफ कार्यालय आने की जरुरत नहीं क्योंकि वे अपने घर बैठे ही विभाग के पोर्टल पर इसमें बदलाव कर सकते हैं। उन्होंने यह बात पत्रकारों के साथ बातचीत में कही।

कार्यकारी कमिश्नर यादव ने बताया कि विभाग की हर कार्रवाई आनलाइन कर दी गई है और निजी संस्थाओं में काम करने वाले कर्मचारियों को यूएएन नंबर जारी किए जा चुके हैं। किसी भी तरह का क्लेम या पेंशन संबंधी जानकारी के लिए पीएफ कार्यालय में आने की जरुरत नहीं। घर बैठे ही पीएफ पोर्टल से किसी भी तरह के बदलाव के साथ ट्रांजेक्शन भी की जा सकती है। उक्त सुविधा का लाभ लेने के लिए कर्मचारियों का आधार कार्ड बैंक के खाते से ¨लक होना चाहिए और कर्मचारी के नाम या उपनाम में किसी तरह की गलती नहीं होनी चाहिए।

यादव ने बताया कि पीएफ खाता धारकों की तरफ से अपनी नौकरी बदली करने पर बिना हस्ताक्षर किए उनकी राशि 3 दिनों में ट्रांसफर की जा रही है। अगर किसी के पास आधार और प्रमाणित पहचान पत्र है तो नौकरी बदल कर किसी भी राज्य में जाने पर बिना कोई आवेदन दिए उसका खाता तबदील किए जाने की भी सुविधा शुरु हो चुकी है।

प्राइवेट संस्थाओं से अपील की कि वे अपने यूनिटों में काम कर रहे सेवामुक्त होने वाले कर्मचारी के साथ संबंधित फार्म और जरुरी दस्तावेज संबंधी अपनी कार्रवाई मुकम्मल करके कर्मचारी निधि के कार्यालय में जमा करवाएं। ताकि सेवामुक्त होने वाले कर्मचारियों को रिटायर्ड होने वाले दिन ही पेंशन पेमेंट आर्डर जारी किए जा सकें। कर्मचारी अपनी सामाजिक सुरक्षा हित पीएफ की राशि घर बनाने, बच्चों की पढ़ाई, गंभीर बीमारियों के इलाज या फिर बहुत ही जरुरी उद्देश्यों के लिए निकलवाएं। र¨वदर शर्मा

Posted By: Jagran