जागरण संवाददाता, अमृतसर

विरसा विहार में चल रहे अमृतसर रंगमंच उत्सव-2019 के 17वें दिन थिएटर व‌र्ल्ड की टीम ने मोहन राकेश द्वारा लिखित व पावेल संधू के निर्देशन में पंजाबी नाटक 'अध्धे अधूरे' का मंचन किया गया। नाटक की कहानी मध्यवर्गीय परिवार के इर्द-गिर्द घूमती है, जिसमें रिश्तों के टूटने की बात की गई है। नाटक महिला-पुरुष में पैदा हुआ हालातों से पनपे प्यार व नफरत को बयान करती है। जिदगी में बहुत कुछ जल्दी हासिल करने की कोशिश में कुछ लोग थोड़े से भी हाथ धो लेते हैं। अपने आप को पूरा करने की कोशिश में आधे-अधूरे रह जाते हैं। नाटक में शादीशुदा जिदगी से नाखुश अधेड़ आयु की महिला किसी न किसी कोशिश से अपने परिवार को जोड़कर रखना चाहती है। अंत में नाटक दर्शकों के मन में कई सवाल पैदा करता हुआ अपने आप ही जवाब तलाशने की चुनौती देते हुआ संपन्न हो जाता है। विरसा विहार सोसायटी प्रबंधकों ने नाटक पेश करने वाले कलाकारों को स्मृति चिन्ह व सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया।

Posted By: Jagran