जेएनएन, अमृतसर। Onion price: अफगानिस्तानी प्याज महंगाई से लाल हो रही जनता को राहत दिला सकता है। वाघा के रास्ते 86 ट्रकों में 3,182 टन अफगानिस्तानी प्याज आइसीपी (इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट) अटारी पहुंचा। इससे पहले शुक्रवार को कुलियों की हड़ताल के चलते अफगानी प्याज के 40 ट्रकों को वापस वाघा लौटा दिया गया था।

आइसीपी अटारी पर कुली बकाया भुगतान को लेकर दो दिनों से हड़ताल पर चल रहे थे। शनिवार को हड़ताल खत्म होने के बाद कस्टम विभाग ने अफगानी प्याज के ट्रकों को भारत भेजने की क्लीयरेंस दी। देर सायं छह बजे तक अफगानी प्याज के 86 ट्रक भारत पहुंच चुके थे।

ड्राई फ्रूट एसोसिएशन के प्रधान अनिल मेहरा ने बताया कि कुलियों की हड़ताल खुलने से कारोबारियों को राहत मिली है। आने वाले दिनों में अफगानी प्याज बड़ी मात्रा में पहुंचने की उम्मीद है। यहां से यह प्याज देश के विभिन्न हिस्सों में भेजा जाएगा।

हिंद मजदूर सभा अटारी बार्डर के सदस्य सुरिंदर सिंह छिंदा और कुलवंत सिंह बावा ने बताया कि शुक्रवार देर सायं खाते में पैसे डाले जाने के बाद कुलियों ने हड़ताल वापस ले ली। शनिवार को वाघा के रास्ते भारत पहुंचे अफगानिस्तानी प्याज के ट्रकों की अनलोडिंग भी कर दी गई है।

जमाखोरों पर शिकंजा

उधर, चंडीगढ़ में प्याज की जमाखोरी को लेकर सेक्टर-26 मंडी में फूड एंड सप्लाई डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने छापामारी की। मंडी में फूड इंस्पेक्टरों ने रिटेलर और होलसेलर के के स्टॉक रजिस्टर और बिल चेक किए। नौ से 10 फर्म के बिल और स्टॉक रजिस्टर चेकिंग के लिए डिपार्टमेंट ने मांगे हैं। ताकि प्याज की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा सके।

सेक्टर-26 की ग्रेन मार्केट में प्याज 60 से 65 रुपये के होलसोल रेट में अन्य जगहों से पहुंच रहा है, लेकिन रिटेल में प्याज की कीमत 100 से 120 रुपये प्रति किलो है। डिपार्टमेंट के अधिकारियों के अनुसार इसकी जांच की जा रही है। स्टॉक लिमिट कम की गई प्रशासन के फूड एंड सप्लाई डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने प्याज की जमाखोरी रोकने के लिए दो टीमें बनाई हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!