नितिन धीमान, अमृतसर: पूरा एक बरस बीत गया। 16 जनवरी 2021 को देश में कोरोना वायरस की काट कोरोना वैक्सीन मिली थी। कोविशील्ड और कोवैक्सीन रूपी संजीवनी लगाने का क्रम शुरू हुआ। महामारी से लोगों को बचाने के लिए सरकार यह टीका निश्शुल्क उपलब्ध करवाया। चिकित्सा तंत्र का एक भाग कोरोना वायरस से जूझ रहे मरीजों के जीवन रक्षण में जुट गया तो दूसरा भाग वैक्सीन लगाने के क्रम में। अफसोस कि आज एक साल बाद भी 50 फीसद लोगों को दोनों डोज नहीं लग पाई। अमृतसर में दोनों डोज लगवाने वालों का प्रतिशत 46.39 है। सेहत विभाग अपने लक्ष्य से अभी कोसों दूर है। हालांकि कोरोना की तीसरी लहर के बीच वैक्सीन लगवाने के प्रति लोगों का उत्साह बढ़ रहा है। सोमवार को टीकाकरण ने गति पकड़ी है। जिले के 256 केंद्रों में 25,581 लोगों को टीका लगाया गया। करीब दो माह बाद इतने अधिक लोगों को एक दिन में टीका लगा है। दिसंबर-2021 की तुलना में जनवरी-2022 में टीकाकरण ने कुछ गति पकड़ी है। दिसंबर के पहले 17 दिनों में 1,47,052 डोज लगी थीं, जबकि जनवरी के 17 दिनों में 1,84,773 लोगों को टीका लगा है। 4162 किशोरों को अब तक लगा टीका

जिले में 15 आयु वर्ग से अधिक के सभी लोगों को टीका लगाने का क्रम जारी है। 15 से 18 आयु वर्ग के किशोरों की संख्या 1,12,000 है। 3 जनवरी से इन्हें टीका लगाया जाने लगा। अब तक 5370 को टीका लगा है। वहीं 18 से अधिक आयु के 1840,853 लोग हैं। इनमें से 1528014 को पहली डोज 83.01 प्रतिशत, जबकि 8,68,482 को दोनों डोज 47.18 लगी हैं। खास बात यह है कि अब उन लोगों को बूस्टर डोज लगाई जा रही है जो नौ माह पूर्व दूसरी डोज लगवा चुके हैं। सोमवार को टीकाकरण

कुल टीकाकरण केंद्र - 256

आज टीकाकरण - 25,581

पहली डोज - 10209

दूसरी डोज - 13,512

15 से 18 आयु वर्ग को - 1,023

अब तक कुल डोज - 24,06,342

Edited By: Jagran