मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, अमृतसर : महाराष्ट्रा के नागपुर जिले के रहने वाले घनश्याम लाल (65) ने हाथ की नसें काटकर खुदकुशी कर ली। घनश्याम लाल पिछले करीब एक महीने से क्वींस रोड पर एक धर्मशाला में कमरा लेकर रह रहा था। मरने से पहले घनश्याम ने लिखे सुसाइड नोट में चार रिश्तेदारों के नाम भी लिखे हैं, जिनसे दुखी होकर उसने खुदकुशी की। थाना सिविल लाइन पुलिस ने सुसाइड नोट के आधार पर सत्यनारायण, जीतू, लाली और संतोष के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। साथ ही पोस्टमार्टम के बाद लाश परिवार को सौंप दी गई है।

घनश्याम का एक भाई जतिदर शर्मा पिछले कई सालों से अपने परिवार के साथ मजीठा रोड पर रह रहा है। जतिदर शर्मा ने बताया कि उसका भाई पिछले करीब 7-8 सालों से अलग ही रह रहा था। उसकी दिमागी हालत भी ज्यादा ठीक नहीं थी। वह काम के सिलसिले में अकसर अमृतसर आता रहता था। बीते दिन पता लगा कि क्वींस रोड पर एक धर्मशाला में भाई ने अपने नसें काट ली हैं। वह तुरंत मौके पर पहुंचे। मगर तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। पुलिस को घनश्याम की जेब से एक सुसाइड नोट निकला, जिसमें उन्होंने लिखा हुआ था कि वह उक्त लोगों से बेहद परेशान है। अब मरने के अलावा कोई अन्य रास्ता नहीं रह गया है। मामले की जांच कर रहे एएसआइ चंद्र मोहन ने बताया कि फिलहाल केस दर्ज कर लिया है और आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए मृतक के परिवार की भी मदद ली जा रही है। जल्द ही इन आरोपितों को पकड़ लिया जाएगा।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!