जागरण संवाददाता, अमृतसर : अमृतसर देहाती पुलिस ने दवा मार्केट कटरा शेर सिंह पर अपना जाल बिछा दिया है। प्रतिबंधित दवाओं का कारोबार करने वाले दर्जनभर संदिग्ध दुकानदार पुलिस के स्केनर पर हैं। वहीं जांच में सामने आया है कि अब प्रतिबंधित ट्रामाडोल हिमाचल के पांवटा साहिब से आने के बजाय उत्तराखंड के देहरादून से आने लगी है। छापामारी के दौरान पुलिस को पता चला कि बरामद की गई प्रतिबंधित दवाओं पर देहरादून की एक फैक्ट्री और मध्यप्रदेश स्थित भोपाल की फैक्ट्री के नाम छपे हुए हैं। स्पष्ट है कि पांवटा साहिब की फैक्ट्री को बंद कराने के बाद उक्त दो जिलों में चल रही प्रतिबंधित दवाओं की फैक्ट्रियों के मालिकों ने अमृतसर में ट्रामाडोल की सप्लाई करनी शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि आने वाले दिनों में अमृतसर देहाती पुलिस मध्यप्रदेश और उत्तराखंड में जाकर छापामारी कर सकती है। एसएससी गुरमीत सिंह खुराना ने बताया कि मामले में सनी टार्जन सहित तीन आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। शनिवार को थाने की पुलिस ने दवा मार्केट से खन्ना मेडिकल सेंटर के मालिक मुन्ना को गिरफ्तार कर लिया है।

बता दें इस मामले में अब पुलिस दो लाख से ज्यादा प्रतिबंधित गोलियां बरामद कर छह लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। मनीष कुमार उर्फ मनु महाजन से ही 180000 प्रतिबंधित गोलियां बरामद की जा चुकी हैं।

दवा मार्केट में हड़कंप

कटरा शेर सिंह में चल रहे प्रतिबंधित दवाओं के कारोबार रोकने के लिए जैसे ही एएसपी अभिमन्यु राणा ने छापामारी की तो मार्केट में हड़कंप मच गया। ट्रामाडोल का कारोबार करने वाले कई दुकानदार भूमिगत हो गए। बताया जा रहा है कि आने वाले दिनों में दवा मार्केट से कई गिरफ्तारियां होने वाली है। बता दें कि उक्त अधिकारी ने तीन महीने पहले हिमाचल के पांवटा साहिब में जाकर 15 करोड़ की प्रतिबंधित ट्रामाडोल बरामद की थी। जिला ड्रग कंट्रोलर भी करेंगे दुकानदारों की जांच

सेहत विभाग ने भी कार्रवाई शुरू कर दी है। सोमवार को डिस्ट्रिक्ट ड्रग कंट्रोलर बीच दवाओं का कारोबार करने वाले दुकानदारों का रिकार्ड जांचने पहुंचेंगे।

Edited By: Jagran