जागरण संवाददाता, अमृतसर : विभिन्न एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने अमृतसर अग्रवाल समाज के प्रधान और पंजाब व्यापार मण्डल के उपप्रधान रंजन अग्रवाल की अगुवाई में शुक्रवार को मीटिग की। इस दौरान सरकार की ओर से घोषित पैकेज के अलावा कोविड-19 चलते हालात के प्रति केन्द्र व राज्य सरकार की भूमिका पर विचार विमर्श किया। रंजन अग्रवाल ने बताया कि पैकेज को लेकर जो उद्योगपति और इंडस्ट्री में भ्रम था वो वित्त मंत्री की घोषणा के बाद टूट गया। उन्होंने पैकेज को आर्थिक रूप से कमजोर बताया और कहा कि ये व्यापारी और इंडस्ट्री के साथ मजाक है। व्यापारियों को पूरी आस थी कि वित्त मंत्री जहां पर तीन महीने के ब्याज और ईएमआइ माफ करेंगी। वहीं सिक्योरिटी की गारंटी के बिना पैसा देना नीरव मोदी, माल्या जैसे बड़े घरों को चोरी करने का न्योता देने जैसा है। सरकार को चाहिए था कि व्यापार और इंडस्ट्री को प्रोत्साहित करने के लिए ब्याज का रेट कम होता। मध्य वर्ग के व्यापारियों और इंडस्ट्री को इस पैकेज से कोई फायदा नहीं होने वाला है। मौके पर रितेश अग्रवाल, गुरप्रीत कटारिया, दीप सिंह, जसपिदर सिंह, सुभाष अरोड़ा, सुखदेव सिंह, चांद अग्रवाल, विपिन महाजन, विकास जैन मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!