अमृतसर, जागरण संवाददाता: किसान मजदूर संघर्ष कमेटी पंजाब की ओर से मांगों को लेकर वल्ला रेलवे फाटक के नजदीक प्रदर्शन करते हुए ट्रेनों का पहिया जाम किया गया। किसानों ने दोपहर 12 से तीन बजे तक रेल रोको आंदोलन करके अपनी आवाज बुलंद की। वहीं किसानों के धरने के कारण अमृतसर-नई दिल्ली स्वर्ण शताब्दी, शान-ए-पंजाब, पैसेंजर सहित नौ ट्रेनें प्रभावित हुईं। इससे स्टेशन पर यात्रियों को परेशान होना पड़ा।

धरने के चलते नई दिल्ली-अमृतसर स्वर्ण शताब्दी साढ़े तीन घंटे, शान-ए-पंजाब एक्सप्रेस ढाई घंटे देरी से अमृतसर पहुंची। कादियां और लुधियाना से आने वाली डीएमयू को रद कर दिया गया। वहीं नंगल डैम एक्सप्रेस को जालंधर में ही रोककर वहीं से नंगल के लिए रवाना किया गया। बाकी की कई ट्रेनें दो से ढाई घंटे की देरी से रवाना हुईं। ट्रेनें प्रभावित होने से यात्री रेलवे स्टेशन पर ही इंतजार करते रहे। लोग यही कोसते रहे कि सरकारों को किसानों की मांगों पर ध्यान देना चाहिए, ताकि आम जनता को परेशान न होना पड़े। रेलवे की तरफ से इसके लिए पुख्ता इंतजाम भी किए हुए थे। रेलवे अधिकारियों का कहना था कि जो ट्रेनें रद रहीं, उनका रिफंड यात्रियों को देने के लिए अलग काउंटर भी लगा दिए गए थे।

ये ट्रेनें देरी से रवाना हुईं

अमृतसर से चलने वाली सरयु यमुना एक्सप्रेस (14650) ढाई घंटे लेट रही। अमृतसर से चलने का समय 1.05 बजे था, जोकि 3.40 बजे रवाना हुई। हजूर साहिब नांदेड़ सुपरफास्ट एक्सप्रेस (12422) ढ़ाई बजे की बजाय 4.50 बजे, शान-ए-पंजाब एक्सप्रेस (12498) 3.10 बजे चलने की बजाय 5.45 बजे रवाना हुई। नई दिल्ली शताब्दी एक्सप्रेस (12029/30) डेढ़ बजे आने की बजाय शाम पांच बजे अमृतसर पहुंची और 6.40 बजे इसे रवाना किया गया। जनसाधारण एक्सप्रेस (15532) 5.45 बजे की बजाय 7.30 बजे रवाना हुई। पठानकोट जाने वाली डीएमयू (06933) ट्रेन 12.30 बजे की बजाय 3.55 बजे रवाना हुी। नंगल डैम (14505) को जालंधर में ही रोक दिया गया और वहीं से ही रवाना की गई। इसके अलावा लुधियाना पैसेंजर डीएमयू (04592) व कादियां जाने वाली डीएमयू (06947) को रद्द कर दिया गया।

Edited By: Vicky Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट