संवाद सहयोगी, अमृतसर : शिक्षा विभाग द्वारा सरकारी स्कूलों के छठी से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों के गुणात्मक विकास व अंग्रेजी भाषा के डर को निकालने के उद्देश्य से अंग्रेजी बूस्टर क्लब स्थापित करने का फैसला लिया है। इस संबंधी स्टेट रिसोर्सपर्सन चंद्रशेखर ने बताया कि सरकारी स्कूलों पर विश्वास करके अभिभावकों ने अपने बच्चों को दाखिल करवाया है तथा उनके विश्वास को कायम रखते हुए अंग्रेजी अध्यापकों ने बूस्टर क्लब बनाने की नई शुरुआत की है।

जिला शिक्षा अधिकारी सतिदरबीर सिंह ने बताया कि निजी स्कूलों में पढ़ते विद्यार्थियों के अध्यापकों से यह सुनने को मिलता था कि सरकारी स्कूलों के अध्यापक बच्चों की अंग्रेजी में पकड़ मजबूत नहीं करवा सकते। इसको चुनौती के रूप में लेते हुए अध्यापकों ने बच्चों को अंग्रेजी बोलने के लिए उत्साहित किया। जिले में 12 अक्तूबर से बूस्टर क्लब बनाने की शुरुआत की जा रही है तथा इस संबंधी करवाई जाने वाली गतिविधियों की रूपरेखा जिला मेंटरज व बलाक मेंटरज द्वारा तैयार कर ली गई हैं। इस प्रोजेक्ट संबंधी जानकारी देते हुए डीएम जसविदर कौर ने बताया कि क्लबों को स्थापित करने का कार्य दो पड़ावों में पूरा होगा, जिसका पहला पड़ाव एक महीने का होगा। सरकारी स्कूलों में बढ़ेगी छात्रों की संख्या

प्रिसिपल बलराज सिंह ढिल्लों व प्रिसिपल मनदीप कौर ने बताया कि विभाग की टीम इसका पहला कारण भविष्य में सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की गिनती बढ़ेगी तथा अच्छे परिणाम सामने आएंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!