अमृतसर, [विपिन कुमार राणा]। फायर ब्रांड नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू 44 दिनों के बाद एक बार फिर एक्टिव मोड में आ गए हैं। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ हुए विवाद और फिर कैबिनेट से इस्‍तीफे के बाद गुरु अब अपने क्षेत्र में सक्रिेय होंगे। वह आज से अपने चुनाव क्षेत्र अमृतसर पूर्वी में उतरेंगे। बताया जाता है कि वह समर्थकों से अगले कुछ दिनों में चर्चा कर अपनी आगे की सियासी रणनीति बनाएंगे। समझा जाता है कि सिद्धू अगले कुछ दिनों में अपनी सियासी राह के बारे में ऐलान भी कर सकते हैं।

फील्‍ड में उतरे नवजोत सिद्धू, डैमेज कंट्रोल और पकड़ मजबूत करने में जुटेंगे गुरु

पंजाब की सियासत से 44 दिनों तक गायब रहे नवजोत सिंह सिद्धू आखिरकार मंगलवार को अपने समर्थकों से मिले। इसके साथ ही अमृतसर से लगातार गायब रहे सिद्धू  बुधवार से डैमेज कंट्रोल के लिए फील्ड में जाकर अगले तीन दिन तक कार्यकर्ताओं से बैठकें करेंगे। 44 दिन का मौन तोड़ते हुए सिद्धू ने अपने आवास पर  मिलने पहुंचे समर्थकों के साथ बैठक की और उन्हें फील्ड में डट जाने को कहा। सिद्धू ने कहा कि वह खुद भी हलके में जनसंपर्क के लिए उतरेंगे।

मुख्यमंत्री से विवाद के 44 दिन बाद सिद्धू ने मौन तोड़ा, समर्थकों को दी क्षेत्र में डट जाने की नसीहत 

सूत्रों के अनुसार सिद्धू ने समर्थकों से कहा कि उन्होंने ढाई साल पंजाब को दिए हैैं और अब ढाई साल हलके को देंगे। बता दें कि स्थानीय निकाय मंत्री बनने के बाद उनकी अपने समर्थकों से दूरी बढ़ गई थी। हलके में उनकी पत्‍नी डा. नवजोत कौर सिद्धू की सक्रियता भी पहले के मुकाबले कम दिखी। साफ संकेत दिया कि पिछले ढाई साल में सिद्धू अपने हलके में केवल चुनिंदा कार्यक्रमों में ही पहुंचे। सूत्रों के अनुसार, समर्थकों से चर्चा और जनसंर्क से मिले इनपुट के आधार पर सिद्धू अपनी अगली रणनीति तय करेंगे। माना जा रहा है कि सिद्धू अगले कुछ दिनों में बडा़ कदम उठा सकते हैं।

कहा, ढाई साल सूबे को दिए ढाई साल हलके को देंगे, शुरू करेंगे जनसंपर्क अभियान

सिद्धू से मुलाकात करके आए एक कांग्रेसी नेता ने बताया कि बैठक में संवाद एक तरफा रहा। सिद्धू ज्यादा बोले और समर्थकों ने केवल उन्हें सुना। कांग्रेसी पार्षद और कार्यकर्ता सुबह दस बजे ही उनके घर पहुंचना शुरू हो गए। करीब साढ़े 11 बजे समर्थकों के बीच आए सिद्धू ने डेढ़ घंटे तक उनके साथ बैठक की। उसके बाद सामूहिक तस्वीर खिंचवाकर सोशल मीडिया पर डाला। सिद्धू ने सभी को क्षेत्र में डट जाने की अपील करते हुए कहा कि वह खुद भी बुधवार से अगले तीन दिन तक हलके के प्रमुख नेताओं, पार्षदों और कार्यकर्ताओं से मिलेंगे। इसके साथ ही जनसंपर्क अभियान शुरू करेंगे।

कांग्रेसियों ने बनाई दूरी 

सिद्धू के अमृतसर आने के तीन दिन बाद भी वरिष्‍ठ कांग्रेसियों ने सिद्धू से दूरी बनाए रखी। कहा जा रहा है कि ये कांग्रेसी सिद्धू से मिलकर कैप्टन अमरिंदर सिंह की नाराजगी मोल नहीं लेना चाहते।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!