जागरण संवाददाता, अमृतसर : सांसद गुरजीत सिंह औजला ने संसद के शीतकालीन सत्र में श्री गुरु नानक देव जी के 500 वर्षीय जन्म शताब्दी की बधाई दी। साथ ही श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान व मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिदर सिंह का धन्यवाद किया। उन्होंने मांग की कि अटारी सीमा के माध्यम से बंद पड़े भारत-पाकिस्तान व्यापार को शुरू किया जाए।

औजला ने करतारपुर साहिब कॉरिडोर खुलने पर कहा कि रोजाना अरदास में बिछड़े गुरु धामों के खुले दर्शन दीदार करने की मांग करने वाले सिखों की 72 सालों से प्रतीक्षा खत्म हुई है। सिख बिना वीजा के अपने गुरु श्री गुरु नानक देव जी की चरण स्पर्श प्राप्त धरती श्री करतारपुर साहिब के खुले दर्शन दीदार कर सकते हैं। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की कि वह श्री करतारपुर साहिब के लिए पासपोर्ट की शर्त को खत्म करने के लिए कदम उठाएं। दर्शन दीदार करने के लिए बीस डालर की रखी गई फीस से भी सिख संगत को निजात दिलाई जाए।

औजला ने संसद में मांग की है कि पिछले समय में हुए पुलवामा हमले के बाद बंद पड़े भारत-पाकिस्तान व्यापार को तुरंत शुरू किया जाए। अटारी वाघा सीमा के माध्यम से होने वाले वार्षिक 1500 करोड़ रुपये के व्यापार के बंद होने से पांच हजार लोग सीधे तौर पर व दस हजार लोग अप्रत्यक्ष रूप में बेरोजगार हुए हैं। औजला ने कहा कि अटारी सीमा के माध्यम से भारत-पाकिस्तान व्यापार के बंद होने के कारण हजारों परिवारों के चूल्हों की आग ठंडी हो गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!