जासं, अमृतसर : प्रदेश के उप मुख्यमंत्री सुखजिदर सिंह रंधावा ने 73वें गणतंत्र दिवस पर गुरु नानक स्टेडियम में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और पंजाब वासियों को इस पर्व की बधाई दी। उन्होंने देश कि आजादी के लिए जान गंवाने वाले योद्धाओं को याद करते हुए कहा कि इन सूरमों की बदौलत हम सभी आजाद फिजा में सांस ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि जहां देश के जवान, जिसमें फौज, पैरामिलिट्री फोर्स व पुलिस के जवान शामिल हैं, ने देश पर आए हर दुश्मन का बड़ी बहादुरी के साथ मुकाबला यिा है। किसी समय देश को अन्न के लिए बाहरी देशों के आगे हाथ फैलाना पड़ता था तब हमारे किसानों जोकि सिर्फ दो प्रतिशत ही है ने हरी क्रांति लाकर देशवासियों का पेट भरा है।

उन्होंने कहा कि देश को आजाद करवाने में पंजाबियों का सबसे ज्यादा योगदान रहा है। काले पानी की सजा काटने वालों में ही सबसे ज्यादा पंजाबी थे। उन्होंने कहा कि आजादी के दौरान जो बंटवारा हुआ उससे सबसे ज्यादा नुकसान पंजाब को ही हुआ है। इस आजादी को हमें संभालकर रखना होगा और जिन परिवारों ने देश के लिए शहीदी दी है, उनके लिए भी बहुत कुछ करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पंजाब देश का दिल है और पंजाब मजबूत होगा तो देश भी मजबूत होगा। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी, 1950 को आज के दिन भारतीय संविधान लागू होने से गणराज्य की स्थापना हुई। इस दौरान उन्होंने परेड कमांडर गुरिदरबीर सिंह सिद्धू को सम्मानित किया।

इस अवसर पर डिप्टी कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा, पुलिस कमिश्नर डा. सुखचैन सिंह गिल, सांसद गुरजीत सिंह औजला, जिला सेशन जज हरप्रीत कौर रंधावा, एडीसी रूही दुग्ग, नगर निगम कमिश्नर संदीप रिषी, एडीसी रणबीर सिंह मूधल, सहायक कमिश्नर अमरिदर सिंह टिवाणा, एसडीएम राजेश शर्मा, एसडीएम दमनदीप कौर, जिला राजस्व अधिकारी अरविदर पाल सिंह मौजूद थे।

Edited By: Jagran