जेएनएन, अजनाला। श्री रामतीर्थ मंदिर में दो महिलाओं को बंधक बनाकर उनसे सामूहिक दुष्कर्म किया गया। एक महिला संतान नहीं होने पर मंदिर में मन्नत मांगने आई थी। आरोपित महंतों ने उसके परिवार वालों को धक्के देकर मंदिर से बाहर भगा दिया। इसी तरह एक अन्य महिला को भी बंधक बना दिया गया। इसके बाद उनसे सामूहिक दुष्कर्म किया गया। मेडिकल रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है। लोपोके थाना पुलिस ने धूना साहिब ट्रस्ट के महंत नछत्तर नाथ, सूरज नाथ, गिरधारी लाल और वरिंदर नाथ के खिलाफ दुष्कर्म के आरोप में केस दर्ज कर लिया है। एसपी अमनदीप कौर ने बताया कि छापामारी करते हुए महंत गिरधारी लाल और वरिंदर नाथ को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दरअसल, मामला कुछ दिन पहले का है। घटना के बारे में गुरदासपुर के पीड़ित परिवारों ने चंडीगढ़ स्थित एससी कमिशन को शिकायत दी थी। शिकायत मिलते ही कमिशन के सदस्य तरसेम सिंह की अगुआई में टीम ने एसएसपी विक्रम दुग्गल को शिकायत दी। पुलिस ने छापामारी करते हुए मंदिर में बंधक बनाई गई दोनों महिलाओं को बरामद कर अस्पताल में दाखिल करवाया। मेडिकल में दुष्कर्म की पुष्टि हो चुकी है।

एसपी अमनदीप कौर ने बताया कि दोनों पीड़ित महिलाओं की कोर्ट में स्टेटमेंट करवाई जा रही है। पुलिस के मुताबिक एक महिला संतान नहीं होने के कारण पिछले कुछ समय से अपने परिवार के साथ मन्नत मांगने श्री रामतीर्थ मंदिर आ रही थी। बीते दिनों भी दोनों महिलाएं अपने-अपने परिवारों के साथ मंदिर पहुंची थीं। उक्त आरोपितों ने उन्हें बंधक बना लिया और उनके परिवारवालों को धक्के मारकर वहां से भगा दिया था।

दुष्कर्म का विरोध किया तो युवती को चाकू से गोदा

वहीं, गत दिवस लुधियाना स्थित चंडीगढ़ रोड के सेक्टर-32 में 16 साल के किशोर ने किराए पर रह रही 28 साल की युवती के घर में घुसकर दुष्कर्म का प्रयास किया। विरोध करने पर आरोपित ने उस पर चाकू से कई वार कर दिए। घायल युवती को सीएमसी अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी हालत स्थिर है। थाना डिवीजन सात पुलिस ने आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म व हत्या प्रयास के आरोप में केस दर्ज करके हिरासत मेंं ले लिया है। 

हिमाचल प्रदेश के जिला हमीरपुर के गांव पबलियार के युवक ने बताया कि उसकी बहन समराला के एक ब्यूटी पार्लर में काम करती है। 16 मई रात उसे मैसेज आया कि उस पर कातिलाना हमला हुआ है और सीएमसी अस्पताल में उपचाराधीन है। जब बहन के पास पहुंचा तो उसने बताया कि जिस मकान में रहती है। उसके पीछे वाले प्लॉट में बने कमरों में मजदूर रहते हैं। वहीं पर 16 साल का किशोर भी रहता है।

15 मई की रात को आरोपित दीवार फांदकर उसके कमरे में आ गया और चाकू दिखाकर दुष्कर्म करने की कोशिश की। विरोध करने पर आरोपित ने उसके पेट व गर्दन समेत कई जगहों पर चाकू से वार किए। एएसआइ पवित्र सिंह ने कहा कि आरोपित को अदालत ने बाल सुधार गृह भेजने के निर्देश दिए हैं। सिविल अस्पताल में उसका कोरोना टेस्ट कराया है। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: अच्छी खबर... श्रीकृष्णा आयुष विश्वविद्यालय ने बनाया कोरोना वायरस से बचाव का फार्मूला

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!