जागरण संवाददाता, अमृतसर : आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के बाद 16 अगस्त को नगर निगम के संयुक्त कमिश्नर (जेसी) हरदीप सिंह ने मंगलवार को सबसे पहले आकर कर्मचारियों का हाजिरी रजिस्टर चेक किया। इसके बाद रंजीत एवेन्यू स्थित नगर निगम मुख्यालय में विभिन्न विभागों में जाकर कर्मचारियों की उपस्थिति का जायजा लिया। इसमें नगर निगम के चार विभागों से कई कर्मचारी अपनी सीटों से गायब ही दिखाई दिए। जेसी हरदीप सिंह ने अपनी सीटों से गायब कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस देकर जवाब मांगने के निर्देश दिए हैं।

मंगलवार सुबह नगर निगम के जेसी हरदीप सिंह ने जैसे ही रंजीत एवेन्यू स्थित नगर निगम के मुख्यालय में एंट्री की तो उन्हें गेट पर कोई सुरक्षा कर्मचारी नजर नहीं आया। उसके बाद जैसे ही वह अंदर आए तो उन्होंने नगर निगम की रिसेप्शन पर भी कर्मचारियों को उपस्थित नहीं पाया व उनके मुताबिक कर्मचारी अपनी सीट पर तैनात नहीं थे। इसके बाद जैसे ही वह नगर निगम के म्यूनिसिपल टाउन प्लानिग (एमटीपी) में गए तो उन्हें म्युनिसिपल टाउन प्लानर (एमटीपी) मेहरबान सिंह सहित, सहायक टाउन प्लानर (एटीपी) वारिस राज, बिल़्िडंग इंस्पेक्टर (बीआई) निर्मलजीत वर्मा और हरप्रीत कौर भी अपनी सीट से गायब थे। जबकि उक्त विभाग से ही सर्वेयर आशीष सहोता और हरदीप सिंह उपस्थित नहीं थे। जेसी हरदीप सिंह ने बताया कि जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र विभाग के प्रभारी कम सचिव विशाल वधावन के साथ-साथ नगर निगम के डिप्टी कंट्रोलर फाइनांस एंड अकाउंट्स (डीसीएफए) विभाग से क्लर्क विशाल, संजीव जोशी, परजोत, हरप्रीत और आस्था भी सीट से गायब थे। इसके साथ नगर निगम के पुलिस विग से बलजीत सिंह और मनजीत सिंह अपनी सीटों से गायब पर गए हैं, जिनसे नगर निगम के जेसी हरदीप सिंह ने जवाब मांगा है। यही नहीं भविष्य में बिना किसी सूचना के अपनी ड्यूटी से गायब रहने वालों को चेतावनी देकर अपनी ड्यूटी जिम्मेदारी निभाने के लिए निर्देश जारी किए हैं। सभी कर्मचारी समय पर ड्यूटी पर पहुंचे : हरदीप सिंह

नगर निगम के संयुक्त कमिश्नर (जेसी) हरदीप सिंह ने कहा कि नगर निगम के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को नौ बजे तक अपने-अपने कार्यालय में पहुंच जाना चाहिए। मंगलवार को औचक चेकिग में निगम के चार विभागों से कर्मचारी गैर उपस्थित पाए गए हैं, जिन्हें नोटिस निकाल कर जवाब मांगे गए हैं। अब आने वाले दिनों में भी कर्मचारियों के ड्यूटी टाइम को लेकर औचक चेकिग जारी रहेगी, ताकि निगम की कार्यप्रणाली को सुधारा जा सके।

Edited By: Jagran