जागरण संवाददाता, अमृतसर: केंद्र व राज्य सरकारों की किसान व जन विरोधी नीतियों के खिलाफ किसान मजदूर संघर्ष कमेटी की ओर से गांवों में सरकारों और कारपोरेट घरानों के पुतले फूंक कर रोष प्रदर्शन किए गए। संगठन के आह्वान पर यह प्रदर्शन 25 अप्रैल तक जारी रहेंगे। प्रदर्शनकारी मांग कर रहे थे कि मंडियों में गेहूं की सरकार खरीद बिना किसी रुकावट व शर्त के होनी चाहिए। बारिश से गेहूं के बचाव के लिए सरकार और प्रशासन उचित इंतजाम करे। इसके अलावा किसान विरोधी कृषि कानूनों को रद किया जाए।

किसान नेता सरवन सिंह पंधेर, गुरबचन सिंह चब्बा और लखविदर सिंह ने कहा कि जिले में 35 गांवों के अंदर यह प्रदर्शन किए गए हैं। सरकार की ओर से मंडियों में बारदाने की सुयोग्य व्यवस्था नहीं की जा रही है। वहीं खरीद के प्रबंध भी काफी धीमी गति से चल रहे हैं। राज्य भर के किसान मंडियों में मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसान जहां राज्य के अलग अलग गांवों में प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं दिल्ली बार्डर पर भी किसानों की ओर से लगातार धरना जारी है। दिल्ली प्रदर्शन को और अधिक मजबूत बनाने के लिए राज्य भर से पांच मई को बड़े काफिले दिल्ली पहुंचेगे। गांव मियाणी में आप वर्करों ने जलाए बिजली बिल

वहीं बिजली बिलों की बढ़ोतरी खिलाफ आम आदमी पार्टी द्वारा अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत ट्रेड विग के जिला उपाध्यक्ष गुरसेवक सिंह औलख की अगुआई में बिजली बिल जलाकर कांग्रेस सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया गया। औलख ने कहा कि कैप्टन के राज्य में बिजली बिलों में रिकार्डतोड़ इजाफा हुआ है। इस मौके मीडिया सलाहकार हरप्रीत सिंह धुन्ना, भगवान सिंह, प्रताप सिंह, ज्ञान सिंह, दिलबाग सिंह, बलदेव सिंह, रंजीत सिंह, सुखदेव सिंह, रेशम सिंह मौजूद थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप