गुरमीत लूथरा, अमृतसर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से 1 सितंबर से शुरू की गई इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) के तहत रुरल व शहरी एरिया में अभी तक 1200 से¨वग एकाउंट्स खुले हैं। फिलहाल पोस्टमैनों का प्रशिक्षण चल रहे होने के कारण यह अभियान अभी जोर नहीं पकड़ पाया है। जिले में इस समय कुल 300 पोस्टमैन हैं जिनमें से 35 की तैनाती मुख्य डाकघर में हैं।

इन्हें एकाउंट ओपनिंग की ट्रे¨नग तथा जरुरी सामान भी प्रदान कर दिया गया है। प्रतिदिन 10 कर्मचारियों को बायोमेट्रिक सिस्टम, आइपीपीबी एप व मोबाइल अपडेशन की ट्रे¨नग दी जा रही है।

यह है प्रक्रिया

उन्होंने बताया कि 12 साल से ऊपर कोई भी नाबालिग एवं व्यस्क व्यक्ति इससे जुड़ सकते हैं। मुख्य डाकघर के काउंटर नंबर 10 पर वे सेविंग अथवा करंट अकाऊंट खुलवा सकते हैं। जीरो बैलेंस पर खुलने पर खाते के तहत उन्हें क्वीक रिस्पांस कार्ड प्रदान किया जाएगा, खाता खुलवाने के लिए उनके पास केवल आधार कार्ड होना जरुरी है, करंट खाते के लिए आधार व

पेन कार्ड दोनों जरुरी है।

मुख्य डाकघर की क्षेत्रीय इंचार्ज दीक्षा ने बताया कि ग्राहक क्वीक रिस्पांस आइडी, आधार कार्ड से एक लाख रुपए तक का लेन-देन कर सकते हैं।

बाक्स

25 रुपए लेकर डाकिया घर बैठे ही पैसे जमा करवा व निकलवा देगा

उन्होंने बताया कि घर बैठे बैं¨कग सुविधा के तहत पोस्टमैन मोबाइल से एक रिक्वेस्ट के तहत घर बैठे ही आपसे पैसे लेकर आपके एकाउंट में जमा करवा सकेगा अथवा निकलवाकर पैसे दे सकेगा। प्रत्येक डील के लिए 25 रुपए अतिरिक्त कमिशन रखी गई है। इस विधि से प्रतिदिन फिलहाल 5 हजार रुपए तक की रकम निकाली व जमा करवाई जा सकती है। खाते के तहत राशि जमा व निकलवाने की लिमिट 1 लाख रुपए निर्धारित है। दीक्षा ने बताया कि बजुर्गों, विकलांग व अन्य वर्ग के लोगों के लिए भी यह सुविधा फायदेमंद है।

इन क्षेत्रों में शुरू हुई सुविधा

उन्होंने बताया कि रुरल एरिया के तहत फिलहाल गुमानपुरा, खापड़खेड़ी, वड़ाली, छेहरटा में भी यह सुविधा शुरु कर दी गई है। जल्द ही आइपीपीबी एप भी लांच किया जा रहा है। घर बैठे सुविधा की लिमिट 5 हजार रुपए प्रतिदिन से अधिक होने की उम्मीद है। यह सुविधा सुबह 9 से शाम 5 बजे तक उपलब्ध है।

Posted By: Jagran