अमृतसर, जेएनएन। सीमा पार कर भारतीय क्षेत्र में आ गए पाकिस्तानी लड़के मुशब्बर बिलाल को आज सुबह रिहा कर दिया कर दिया गया। उसे अटारी वाघा सीमा पर पाकिस्‍तानी अधिकारियों को सौंप दिया गया। वह वाघा बॉर्डर के रास्ते अपने वतन लौट गया। बिलाल होशियारपुर जुबेनाइल होम में बंद था।

पाकिस्‍तानी किशोर मुशब्बर बिलाल को मंगलवर सुबह हाेशियारपुर के जुबेनाइल हाेम (बालगृह) से रिहा किया गया। उसे लेकर पुलिस की टीम अटारी सीमा पहुंची और बीएसएफ के अधिकारी इसे अटारी सीमा पर ले गए। पाकिस्तान रवाना होने से पहले मुशब्‍बर ने बताया कि 22 महीने पहले परिवार में हुई मामूली विवाद के कारण वह घर से भाग गया था और गलती से भारतीय क्षेत्र में पहुंच गया था। यहां बीएसएफ के जवानों ने उसे पकड़ लिया। आज उसे बहुत खुशी है कि वह अपने वतन लौट रहा है। भारत में पंजाब की जुवेनाइल होम में मिले व्यवहार और अच्छे बर्ताव की उसने सराहना की।

बता दें कि मुशब्‍बर गलती से सीमा पार कर भारतीय क्षेत्र में आ गया था। पाकिस्तान के जिला कसूर के गांव कतलोई कलां का बिलाल मार्च 2018 से होशियारपुर के बाल सुधार गृह में बंद था। बिलाल ने बताया कि वह स्कूल जाना चाहता था, लेकिन परिवार की आर्थिक हालत ठीक न होने के कारण पिता उसे स्कूल नहीं भेज रहे थे। एक दिन पिता के डांटने पर वह घर से भाग गया और भटकता हुआ भारतीय क्षेत्र में पहुंच गया। खेमकरण सेक्टर में उसे बीएसएफ के जवानों ने पकड़ लिया था। 25 दिन बाद बिलाल के माता-पिता को पता चला कि बिलाल सीमा पार कर भारत पहुंच गया है।

यह भी पढ़ें: पंजाब के फिरोजपुर में फिर घुसा पाकिस्‍तानी ड्रोन, BSF जवानों ने की फायरिंग, सर्च ऑपरेशन जारी

तरनतारन जुबेनाइल कोर्ट ने उसे छह महीने कैद की सजा सुनाई थी। सजा पूरी होने के बाद कोई प्रमाण पत्र न होने के कारण उसे बाल सुधार गृह होशियारपुर भेज दिया गया था। श्री ननकाना साहिब गए लुधियाना के जत्थे में शामिल कुछ युवकों को बिलाल के माता-पिता ने पूरी बात बताई थी। वापस आकर युवकों ने मुद्दा उठाया जिसके बाद उसकी रिहाई हो रही है।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: केरल के बाद पंजाब सरकार भी ला सकती है CAA के खिलाफ प्रस्ताव, आज कैबिनेट करेगी फैसला

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!