जागरण संवाददाता, अमृतसर

जलियांवाला बाग मेमोरियल सिविल अस्पताल में आइडीएसपी लैब का इंटीग्रेटेड डिजीज सर्विलेंस प्रोग्राम के निर्माण का कार्य शुरू हो गया है। वाटर बोर्न डिजीज की जांच के लिए बनाई जा रही इस लैब में अत्याधुनिक चिकित्सा उपकरण इंस्टॉल किए जाएंगे।

बुधवार को डिस्ट्रिक्ट एपिडिमोलॉजिस्ट व आइडीएसपी प्रोजेक्ट के प्रभारी डॉ. मदन मोहन ने निर्माण कार्य का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि आइडीएसपी लैब के कार्यान्वित होने के बाद सिविल अस्पताल में आने वाले हजारों मरीजों को निजी लेबोरेट्री अथवा सरकारी मेडिकल कॉलेज स्थित इंफ्लुएंजा लैब तक दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी।

आइडीएसपी लैब हर प्रकार के वाटर बोर्न डिजीज, वैक्टर बोर्न डिजीज, रेस्पीरेटरी डिजीज, सेंटीनल सर्विंलेंस सहित कई असाध्य रोगों के टेस्ट करने में सक्षम होती है। मसलन, यहां ब्लड कल्चर टेस्ट, डेंगू, चिकनगुनिया, सिफलोसिस, टायफायड, हैजा, पीलिया, एचआइवी, यूरिन कल्चर, हैपेटाइटिस-सी व बी, टीबी व खून से संबंधित हर प्रकार के टेस्ट किए जा सकते हैं। सबसे महत्वपूर्ण यह कि आइडीएसपी लैब में इन सभी बीमारियों से पीड़ित मरीजों का आंकड़ा भी सहेजा जाएगा, जिससे इन बीमारियों के बढ़ने व घटते स्तर की जानकारी मिलती रहेगी।

डॉ. मदन मोहन के अनुसार निजी लेबोरेट्रीज में इन टेस्टों की एवज में मोटी राशि ली जाती है। दूसरा पहलू यह है कि सिविल अस्पताल में आने वाले मरीजों के सैंपल लेकर सरकारी मेडिकल कॉलेज स्थित इंफ्लुएंजा लैब में भेजे जाते हैं, लेकिन वहां से रिपोर्ट आने में दो से तीन दिन का वक्त लगता है। ऐसे में मरीजों का ट्रीटमेंट शुरू करने में भी विलंब होता है।

सकारात्मक पहलू है सरकार ने आइडीएसपी लैब में होने वाले सभी टेस्ट तकरीबन निशुल्क रखे हैं। इस अवसर पर डॉ. बेबिका महेंद्रू, राम मेहता भी उपस्थित थे। जल्द शुरू होगी आइडीएसपी लैब : डॉ. अरोड़ा

सिविल अस्पताल के एसएमओ डॉ. रा¨जदर अरोड़ा ने कहा कि आइडीएसपी लैब से संबंधित सारा साजो-सामान सिविल अस्पताल में पहुंच चुका है। फिलहाल माइक्रोस्कोप, एयरकंडीशनर व फ्रिज की खरीद की जा रही है। विभाग की ओर से सभी वस्तुओं की खरीद के लिए फंड जारी कर दिए गए हैं। इमारत का काम बहुत तेजी से जारी है। बहुत जल्दी हम यह लैब शुरू कर देंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!