जागरण संवाददाता, अमृतसर: हिंदू महासभा ने आरएसएस की ओर से उत्तराखंड व बिहार में मुस्लिम समुदाय को खुश करने के लिए मदरसे खोलने की सिफारिश करने की सख्त भ‌र्त्सना की है। आरएसएस की इस सिफारिश को हिंदू महासभा ने इस्लामिक आतंकवाद को बढ़ावा देने की संज्ञा दी है। हिंदू महासभा राष्ट्रवादी के संयोजक महंत रामप्रदास अमरनाथ महाराज, अध्यक्ष एडवोकेट गगन भाटिया व महामंत्री राजविदर राजा ने कहा कि अगर आरएसएस ही मुस्लिम समुदाय को खुश करने के लिए उनके बच्चों के लिए सरकारी तौर पर मस्जिदों में मदरसे खोलने की सिफारिश करता है तो यह प्रक्रिया भारत के भविष्य के लिए एक खतरनाक रूझान है। जो देश को एक बार फिर विदेशी हमलावरों की गुलामी की तरफ बढ़ा देगा।

हिंदू महासभा नेताओं ने कहा कि जरूरत तो यह है कि देश में एक समान शिक्षा व्यवस्था होनी चाहिए। शिक्षा सभी धर्मो के विद्यार्थियों को एक समान दी जानी चाहिए। न कि मस्जिदों में मदरसे खोल कर देश में इस्लामिक आतंकवाद का बीजारोपण किया जाए। चाहिए तो यह था कि भाजपा और आरएसएस रोहिग्या मुस्लिम समुदाय को भारत से वापस भेजने के लिए ठोस नीति को लागू करते। लेकिन उत्तराखंड और बिहार में मदरसे शुरू करने की सिफारिश खतरनाक रूझान है। मदरसों का विरोध करेगी हिंदू महासभा

संगठन के पास रिपोर्ट पहुंची है कि इसकी शुरुआत देहरादून से की जा रही है। जहां भाजपा की सरकार है वहीं बिहार में भाजपा के गठजोड़ सहायक जनता दल की सरकार है। उन्होंने कहा कि हिंदू महासभा देश के किसी भी राज्य में सरकारों की ओर से मदरसे खोले जाने का विरोध करेगी। यहां संगठन के नेता शिव कुमार प्रेम, एडवोकेट कुलदीपक मेहता, पवन पुंज, रजिदर बत्रा, विकास बेरी और नेशनल स्टूडेंट्स फेडरेशन के ठाकुर विजय सिंह आदि भी मौजूद थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!