जागरण संवाददाता, अमृतसर : इंटेग्रेटेड चेक पोस्ट (आइसीपी) अटारी पर डंप पाक इंपोर्टेड (आयातित) सामान को पुरानी कस्टम ड्यूटी पर जारी करने संबंधी वीरवार यानि आज पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट बड़ा फैसला दे सकता है। वहीं इससे पूर्व मंगलवार को हाईकोर्ट ने पाकिस्तान से इंपोर्टेड सीमेंट, जिप्सम और छुआरे आदि की नीलामी पर 19 जुलाई तक रोक लगाने के लिए स्टे दिया था। लैंडपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एलपीए) वहां रखे इंपोर्टरों के करोड़ों के सामान की नीलामी करना चाहता है, जबकि इंसाफ के लिए इंपोर्टर अदालत में पहुंच गए। गौर हो कि जम्मू एंड कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने पड़ोसी देश पाकिस्तान से इंपोर्टेड सामान पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाकर 200 फीसद कर दी थी। इस पर इंपोर्टरों ने कहा कि भारत सरकार की ओर से जारी नोटिफिकेशन के बाद इंपोर्टेड सामान पर यह ठीक है, मगर इससे पहले जिस सामान की पुरानी कस्टम ड्यूटी के मुताबिक भरी जा चुकी है, उसे लैंडपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को रिलीज कर देना चाहिए। इसे लेकर ही इंपोर्टरों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। इस बारे में सीमेंट इंपोर्टर विक्रांत अरोड़ा और एमपी सिंह ने बताया कि 15 फरवरी को पाकिस्तान से इंपोर्ट सीमेंट की कस्टम ड्यूटी 16 फरवरी की सुबह 10 बजे तक भर चुके थे। इस दौरान कई इंपोर्टरों ने बिल ऑफ एंट्री (डाक्यूमेंटेशन संबंधी कार्रवाई) पूरी कर ली, जबकि कई इंपोर्टरों ने तब के कस्टम रेटों के मुताबिक ड्यूटी भी भर दी, मगर फिर भी माल जारी नहीं किया गया। एलपीए की तरफ से ऐसा नहीं करने पर उन्हें भारी वित्तीय नुकसान उठाना पड़ा है।

नोटिफिकेशन से पहले पुरानी दरों पर रिलीज हो माल

ऑल इंडिया ड्राइडेट के राष्ट्रीय प्रधान अनिल मेहरा ने बताया कि सभी इंपोर्टरों के लिए देश की सुरक्षा कारोबार से पहले है मगर सरकार को नोटिफिकेशन से पहले पाकिस्तान से इंपोर्ट किए माल को पुराने कस्टम रेटों पर ही ड्यूटी लेकर रिलीज करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसे लेकर वह केंद्रीय राज्य मंत्री हरदीप सिंह पूरी और वित्तमंत्री से मिल चुके हैं। उन्हें हाईकोर्ट पर पूरा भरोसा है कि इंपोर्टरों से इंसाफ किया जाएगा।

यह है पाक से आयातित सामान

इंटेग्रेटेड चेक पोस्ट अटारी पर 16 फरवरी तक भेजे सामान में 70 हजार से ज्यादा सीमेंट की बोरिया, बड़ी मात्रा में जिप्सम, छुआरा, मुलट्ठी और पुराने टायर-ट्यूब स्क्रेप सहित कुछ अन्य सामान डंप पड़ा है। इंपोर्टर इसे पुरानी कस्टम ड्यूटी पर लेना चाहते हैं जबकि एलपीए नए नोटिफिकेशन के मुताबिक ही जारी करने पर अड़ी हुई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!