संवाद सहयोगी, वेरका: पिछले दो दिन से हो रही भारी बारिश ने जनजीवन प्रभावित कर दिया है। यह लोगों के लिए मुसीबत का कारण भी बन रही है। बारिश के कारण विधानसभा हलका पूर्वी के वार्ड नंबर 23 के क्षेत्र वल्ला की वाल्मीकि पत्ती में एक मकान की छत गिरने से दादी-पोती घायल हो गई। तरसेम सिंह ने बताया कि वह पत्नी नरिदर कौर तथा चार साल की पोती हरजोत कौर के साथ कमरे में सो रहा था। सुबह 11 बजे अचानक मकान की छत गिर गई और दादी-पोती मलबे के नीचे दब गई। आवाज सुनकर इकट्ठे हुए लोगों ने दोनों को मलबे के नीचे से निकाला। इससे वह जख्मी हो गईं। छत गिरने से बेड, फोल्डिंग बेड, फ्रिज और अन्य सामान का नुकसान पहुंचा है। पीड़ित परिवार ने प्रशासन से मुआवजे की मांग की है।

इससे एक दिन पहले गांव अठवाल में सुबह बिजली गिरने से एक किसान के ट्यूबवेल के कमरे में आग लग गई थी। तनवीर पाल सिंह ने बताया था कि शुक्रवार सुबह बादल गरजने और तेज बारिश के कारण वह अपने खेतों में नहीं गए। गांव वासियों से उन्हें पता चला कि उनके खेतों में ट्यूबवेल वाले कमरे पर बिजली गिरने के कारण ट्यूबवेल के स्टार्टर से भयानक आग लगी हुई थी। आग लगने से कमरे की दीवार में दरार आ गई और छत भी गिर गई। इस हादसे में कमरे में रखे सब्जी के 300 क्रेट भी जल गए थे।

Edited By: Jagran