जासं, अमृतसर: किसान मजदूर संघर्ष कमेटी पंजाब के महासचिव सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि केंद्र सरकार सिघू बार्डर पर चल रहे किसानों के आंदोलन को प्रभावित करने की कोशिश कर रही है। पंधेर वीरवार को प्रेस क्लब अमृतसर में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे।

सरवन सिंह पंधेर ने आरोप लगाते हुए कहा कि बुधवार शाम सिघू बार्डर के पास मृतक लखबीर सिंह के परिवार की आड़ के नीचे आरएसएस व भाजपा के मुख्य नेता चंद्र मोहन लगभग 200 के करीब समर्थकों को साथ लेकर जबरदस्ती पहुंचने की कोशिश कर रहे थे ताकि आंदोलन को प्रभावित किया जाए। पंधेर ने कहा कि उनका संगठन किसी को मुआवजा मिलने के विरोध में नहीं है पर आरएसएस और भाजपा ने एक सुनियोजित साजिश के तहत इस नेता को जो पहले 20 दिसंबर 2020 को केंद्रीय कृषि मंत्री नरिदर तोमर को कृषि कानूनों के हक में मांग पत्र देकर आए थे, को अब सिघू बार्डर पर आंदोलन को प्रभावित करने के लिए भेज दिया।

उन्होंने कहा कि लखबीर सिंह का परिवार डर के कारण सिघू बार्डर पर नहीं आ रहा और हमारे पास मदद के लिए यूपी के माध्यम से पहुंच की जा रही है। उन्होंने कहा कि सवाल यह है कि पीड़ित लखबीर का जो परिवार अपने गांव से 10 किलोमीटर तक नहीं जा सका, वह यूपी कैसे पहुंचा। इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। इस दौरान संगठन के नेता लखविदर सिंह वरयाम, डा.कवरदलीप सिंह,गुरलाल सिंह मान, शमशेर सिंह, मंगजीत सिंह सिधवां, गुरबचन सिंह चब्बा, रणजीत सिंह कलेर बाला आदि भी मौजूद थे।

Edited By: Jagran