जागरण संवाददाता, अमृतसर : गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी में बॉटनी विभाग की छात्रा की मौत मामले में परिवार ने किसी तरह की कार्रवाई करवाने से इन्कार कर दिया है।

वीरवार को हुई घटना के बाद काजल के मोबाइल को लॉक लग गया था। मोबाइल का लॉक खुलने से मौत के रहस्य से पर्दा उठेगा, लेकिन परिवार ने कैंटोनमेंट थाने की पुलिस के कब्जे से काजल का मोबाइल भी ले लिया है।

थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सुखजिंदर सिंह ने बताया कि पुलिस अपने स्तर पर जांच कर रही है। फिलहा शव का पोस्टमार्टम करवाकर वारिसों के सुपुर्द कर दिया है।

फाजिल्का स्थित मंडी लादोके के निवासी राजिंदर कुमार की बेटी काजल अपने दो भाइयों में सबसे बड़ी थी। पिता पेशे से किसान हैं। काजल पिछले कुछ दिनों से काफी परेशान चल रही थी। वीरवार की शाम उसकी सभी सहेलियां खाना खाने के बाद हास्टल से बाहर टहलने के लिए चली गई थीं, लेकिन काजल ने सहेलियों के साथ जाने से इन्कार कर दिया था। लौटने पर सहेलियों ने देखा कि कमरा अंदर से बंद हैं। किसी तरह कमरा खुलवाया गया तो अंदर काजल का शव लटक रहा था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!