जेएनएन, अमृतसर। कुछ दिन पहले एनकाउंटर में मारे गए कुख्यात गैंगस्टर विक्की गौंडर के साथी गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी उर्फ कौड़ा को एटीएस (एंटी टेरोरिस्ट स्कावायड) की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित के कब्जे से एक पिस्तौल और जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं।

बताया रहा है कि आरोपित के खिलाफ प्रदेश के कई थानों में हत्या के प्रयास, गैंगवार, अपहरण और मारपीट के मामले दर्ज हैं। जानकारी मिली है कि एटीएस राज्य के विभिन्न जिलों में दर्ज मामलों की सूची जुटा रही है। एटीएस के आइजी कुंवर विजय प्रताप सिंह ने बताया कि फिलहाल आरोपित से पूछताछ की जा रही है।

एटीएस को सूचना मिली थी कि तरनतारन के नागोके गांव निवासी गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी उर्फ कौड़ा  बार्डर जोन में किसी कारोबारी के अपहरण की साजिश रच रहा है। हालांकि उसने अभी अपने गिरोह के सदस्यों को उक्त वारदात को अंजाम देने के लिए एकत्र होने के लिए सूचना दे दी थी, लेकिन इससे पहले ही एटीएस ने उसे धर दबोचा।

जांच में सामने आया है कि गोपी कौड़ा की कुख्यात गैंगस्टर विक्की गौंडर से काफी नजदीकियां थी। नाभा जेल ब्रेक कांड में आरोपित ने विक्की की काफी सहायता की थी। बताया जा रहा है कि स्टेट स्पेशल सेल की टीम ने कुछ समय पहले आरोपित गोपी कौड़ा के खिलाफ अवैध हथियार रखने के आरोप में केस दर्ज भी किया था।

पता चला है कि कौड़ा ने अगस्त 2016 में तरनतारन में हुई गैंगवार में भी अहम भूमिका निभाई थी। इसके अलावा आरोपित ने कुख्यात गैंगस्टर हैरी चड्ढा को दो साल पहले पुलिस हिरासत में भगाने में भी काफी सहायता की थी। बटाला पुलिस ने आरोपी कौड़ा सहित दर्जनभर आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया था। तब से आरोपित पुलिस के लिए लगातार सिरदर्द बना हुई था।

यह भी पढ़ेंः सिक्योरिटी वैन से चार करोड़ का सोना पकड़ा

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!