जेएनएन, अमृतसर। सरकारी स्कूल के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी पर स्कूल की ही 12वीं की छात्रा से छेड़छाड़ करने के आरोप लगे हैं। यही नहीं, उसने छात्रा को महंगे गिफ्ट देकर संबंध बनाने के बनाने का दबाव भी बनाया। छात्रा नहीं मानी तो उसने तेजाब फेंकने की धमकी दी। जब छात्रा घर पर गुुुुुमसुम रहने लगी तो परिजनों ने उससे पूछताछ की। इसके बाद यह राज खुला। पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई जा चुकी है। एएसआइ रणजीत कौर ने बताया कि आरोपित की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापामारी कर रही है।

पीड़ित की मां ने बताया कि स्कूल में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के रूप में काम करने वाला मनप्रीत सिंह उनकी बेटी पर बुरी नजर रखता है। कुछ समय पहले आरोपित ने उनकी बेटी से छेड़छाड़ भी की थी। इस पर परिवार ने पंचायत में शिकायत की थी। पंचों और सरपंच ने आरोपित से पंचायत में माफीनामा भी लिखवाया था। बावजूद आरोपित ने उनकी बेटी को परेशान करना जारी रखी।

आरोपित ने अब उनकी नाबालिग बेटी को लालच दिया कि वह उसे कीमती मोबाइल लेकर देगा, ताकि वह (पीड़िता) उससे (मनप्रीत सिंह) बात कर सके। यही नहीं आरोपित ने कहा कि वह उसे शहर से एक महंगा सूट भी लाकर देगा। पीड़िता ने आरोपित की बात मानने से इन्कार कर दिया तो मनप्रीत सिंह ने उसे धमकाना शुरू कर दिया कि अगर उसने शारीरिक संबंध नहीं बनाए तो वह उसके चेहरे पर तेजाब डालकर उसका चेहरा जला देगा।

इसके बाद पीड़िता गुमसुम रहने लगी। परिवार के सदस्यों ने जब बेटी की हालत देखी तो उससे किसी तरह बात की गई। पीड़िता ने सारी बात अपनी मां को बता दी। इसके बाद तरसिक्का पुलिस को शिकायत की गई। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मनप्रीत सिंह के खिलाफ छेड़छाड़ की कई धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है।

बेटे को भी दी जान से मारने की धमकी

पीड़ित परिवार ने बताया कि आरोपित मनप्रीत सिंह उनके बेटे को भी धमकी दे चुका है। आरोप है कि मनप्रीत सिंह ने पीड़िता की मां को धमकाया कि उसका बेटा मोटर साइकिल पर अकेला ही बाहर जाता है। अगर उसके खिलाफ शिकायत दी तो उसका बेटे की हत्या कर दी जाएगी। उसका मोटर साइकिल ही वापस आएगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!