अमृतसर, जेएनएन। गैंगस्टर्स का पीछा कर रही सीआइए स्टाफ की टीम पर शुक्रवार की रात करीब आठ बजे आरोपितों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि दोनों तरफ से करीब बीस राउंड फायर हुए हैं। इस दौरान एक गोली सीआइए स्टाफ के कांस्टेबल नवप्रीत सिंह के पेट में लगी है, जिन्हें एक निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया है।

सूचना है कि सीआइए ने करीब चार किलोमीटर तक पीछा कर गैंगस्टर प्रिंस जहाज और उसके साथी अंबाला निवासी राजवीर को गिरफ्तार कर लिया है। हालाकि, घटना को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। वारदात के बाद रंजीत एवेन्यू थाना, सदर थाना, मजीठा रोड थाना और वेरका थाने की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया था। मामले के अनुसार सीआइए स्टाफ को शुक्रवार की रात सूचना मिली थी कि कुछ गैंगस्टर्स कार में सवार होकर नशे की सप्लाई देने के लिए मजीठा रोड बाइपास से गुजरने वाले हैं। इसी आधार पर टीम ने मजीठा रोड बाइपास पर नाकाबंदी कर दी थी।

आरोपितों की कार आते देख रुकने का इशारा किया गया, लेकिन आरोपितों ने नाका तोड़कर कार भगा ली। सीआइए स्टाफ की तीन कारों ने आरोपितों का पीछा शुरू कर दिया। खुद को बाइपास पर घिरते देख गैंगस्टर्स ने पुलिस पार्टी पर फाय¨रग झोंक दी। समाचार लिखे जाने तक दो आरोपितों को हिरासत में लिए जाने की बात सामने आ रही थी। पुलिस को वांछित था जहाज आरोपित ने दस अक्टूबर को गहना कारोबारी सज्जन सिंह को गोली मारकर जख्मी कर दिया था। इसके अलावा जहाज के खिलाफ मोकमपुरा और मकबूलपुरा में गोली चलाने के चार मामले दर्ज हैं। प्रिंस के खिलाफ अमृतसर के कई थानों में मारपीट के मामले दर्ज हैं। इसके खिलाफ प्रदेश के कितने और थानों में केस दर्ज है। क्योंकि गैंगस्टर जहाज की कुख्यात गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया से काफी नजदीकिया रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021