जागरण संवाददाता, अमृतसर

रमदास थाने की पुलिस ने जब 17 अगस्त 2016 में हुए चोरी के मामले में कोई कार्रवाई नहीं की तो पीड़ित परिवार ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। अब हाईकोर्ट के आदेश पर पुलिस ने आठ आरोपितों के खिलाफ घर में घुसकर चोरी करने के आरोप में केस दर्ज किया है। एएसआइ दिलबाग ¨सह ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

छन्ना बेदी गांव निवासी तरसेम ¨सह की पत्नी ¨नदर कौर उर्फ म¨हदर कौर ने रमदास थाने ने गांव के ही बिट्टू, जो¨गदर ¨सह, म¨हदर ¨सह, बीर ¨सह, कश्मीर ¨सह, गीता और बल¨वदर ¨सह के खिलाफ केस दर्ज करवाया है। शिकायतकर्ता ने बताया कि उक्त आरोपित उनके साथ पुरानी रंजिश रखते हैं। 17 अगस्त 2016 को वह अपनी बेटी के साथ घर में अकेली थी। पड़ोस में रहने वाला बिट्टू, जो¨गदर ¨सह अपने उक्त साथियों के साथ जबरदस्ती उनके घर में घुस आया। आरोपितों ने पहले मां-बेटी को एक कमरे में बंद कर दिया। फिर अन्य कमरे में रखी अलमारी का दरवाजा तोड़कर उसमें रखे एक लाख रुपये नगद, सोने के गहने, गेहूं और दस हजार ईटें ट्रैक्टर ट्रालियों में लेकर फरार हो गए। ¨नदर कौर ने बताया कि घटना के बाद उन्होंने रमदास थाना और गगोमाहल पुलिस चौकी में कई बार शिकायतें की। हर बार पुलिस उनकी शिकायत को झूठा साबित कर देती। शिकायतकर्ता ने बताया कि हालांकि वह घटना से जुड़े फोटोग्राफ और अन्य सबूत कई बार पुलिस को दे चुके थे। जब पुलिस से उन्हें इंसाफ नहीं मिला तो फिर उन्होंने सारे मामले को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की।

Posted By: Jagran