जागरण संवाददाता, अमृतसर : किसान मजदूर संघर्ष कमेटी ने बिजली एक्ट-2020 संशोधन के खिलाफ विशाल आंदोलन राज्य भर में चलाने का फैसला किया है। 25 मई को इस अंदोलन की रणनीति घोषित की जाएगी। वहीं मजदूरों व किसानों को मिलने वाली सबसिडियों को बंद करने की योजना के खिलाफ भी इस आंदोलन में ऐलान किया जाएगा। इस बात की जानकारी संगठन की गांव बंडाला आयोजित की गई बैठक में लिया गया।

संगठन के अध्यक्ष सतनाम सिंह पन्नू ने कहा कि सरकार निजीकरण की नीतियों को बड़े स्तर पर लागू करने जा रही है। बिजली एक्ट-2020 को लागू करके बिजली सेक्टर पूरी तरह निजी हाथों में देने की तैयारियां हो रही हैं। संगठन की मांग है कि बिजली एक्ट-2003 ,बिजली एक्ट-2020 संशोधित को पूरी तरह रद्द करके राज्यों के बिजली बोर्ड बहाल किए जाएं। उनकी मांग है कि घरेलू उपभोक्ताओं को एक रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली दी जाए। इस अवसर पर संगठन के नेता स्वर्ण सिंह पंधेर, गुरबचन सिंह चब्बा, रणजीत सिंह, सकत्तर सिंह कोटला, अमरदीप सिंह आदि भी मौजूद थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!