जागरण संवाददाता, अमृतसर : किसानों के दो लाख रुपये तक के कर्जा माफी के मुद्दे को लेकर ऑल इंडिया किरती किसान यूनियन के बैनर तले किसानों ने तीसरे दिन भी डीसी अमृतसर के कार्यालय के बाहर धरना जारी रखा। प्रदर्शनकारी किसानों ने हजारों की संख्या में दो लाख रुपये तक का कर्जा माफ करने के लिए फार्म डीसी अमृतसर को भरकर सौंपे। तीसरे दिन देर शाम किसानों ने यह चेतावनी देकर धरना उठा लिया अगर 15 दिनों के भीतर सरकार और प्रशासन ने किसानों की कर्ज माफी को लेकर नीति स्पष्ट न की तो किसान दोबारा जिला प्रशासन के अधिकारियों का अनिश्चितकाल के लिए घेराव करेंगे।

किसान नेताओं जतिदर सिंह छीना, अवतार सिंह जस्सड़ और सतनाम सिंह झंडेर ने कहा कि कैप्टन अमरिदर सिंह के नेतृत्व की पंजाब सरकार ने किसानों का जो सारा कर्ज माफ करने की घोषणा की थी उस वायदे से पंजाब सरकार भाग रही है। राज्य के सैंकड़ों किसानों के कर्ज माफी नहीं हुए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि दो लाख रुपये तक के कुछेक किसानों का कर्ज माफ किया गया है जो सत्ताधारी पार्टी के साथ सबंधित थे। अन्य किसानों के कर्ज का एक भी रुपया माफ नहीं हुआ है। इससे पहले संगठन की ओर से इसी मुद्दे पर 27 जून और 23 जुलाई को भी जिला स्तर पर प्रदर्शन कर कर्ज माफी वाले फार्म जमा करवाए थे। मुख्यमंत्री के नाम पर ज्ञापन भी सौंपे थे परंतु कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है। किसानों की मांग है कि उनके कर्ज माफ किए जाएं। चेक बाउंस के सभी मामले रद किए जाएं। इस दौरान किसान नेताओं बलजिदर सिंह झंडेर, दविदर सिंह, लक्खा सिह, संतोख सिंह, लाल सिंह तेडा, बलराज सिंह गगोमाहल, धमेंद्र सिंह अजनाला, सुखा सिंह भगत, दविदर सिंह आदि ने भी संबोधित किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!