जागरण संवाददाता, अमृतसर : 29 मार्च को हुई छेड़छाड़ के मामले में पुलिस ने घटना के ढाई महीने बाद 13 आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। जब पुलिस ने नहीं सुनी तो पीड़िता ने पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में एफआइआर दर्ज करने को लेकर याचिका दायर की थी। कोर्ट के आदेश के बाद कोतवाली थाने की पुलिस ने 11 जून 2021 को परमिदर सिंह उर्फ नंदा, जगमोहन, सिमरन, विशाल, विक्रमजीत सिंह, करणजीत सिंह, प्रथम के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। कोतवाली थाना प्रभारी गुरमीत सिंह ने बताया कि सात अज्ञात आरोपितों की पहचान करवाई जा रही है।

पीड़िता ने बताया कि वह श्री दरबार साहिब के पास हेरीटेज स्ट्रीट में अपनी मां के साथ चाय बेचती है। आरोपित उनके साथ रंजिश रखते हैं। उनका कुछ लोगों के साथ जगह को लेकर भी विवाद चल रहा है। 29 मार्च की शाम वह अपनी दुकान के बाहर बैठी थी और मां दुकान के अंदर सो रही थी। इस बीच आरोपित वहां पहुंचे और उसके साथ गाली ग्लौज करते हुए अश्लील हरकतें करने लगे। उसने शोर मचाया तो मां और आसपास के लोग वहां पहुंच गए। आरोपितों ने वहां जमकर उत्पात मचाया और फरार हो गए। मामले की पैरवी कर रहे पार्षद जरनैल सिंह ढोट ने बताया कि आरोपित सत्ता के गलियारों में पहुंच रखते हैं। अगर पुलिस ने आरोपितों को काबू नहीं किया तो वह पीड़ित परिवार के लिए संघर्ष करेंगे।

Edited By: Jagran