जागरण संवाददाता, अमृतसर : चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी (सीयू) ने अकादमिक सेशन 2020-21 के लिए नई दाखिला नीति की घोषणा की है। इसके तहत इंजीनियरिग और एमबीए प्रोग्रामों में दाखिले के लिए चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (सीयूसीईटी) दाखिला परीक्षा जरूरी कर दी गई है। मेरिट के आधार पर ही विद्यार्थियों को कोर्स मिलेंगे।

नई नीति की घोषणा सीयू के वाइस चांसलर (वीसी) डॉ. आरएस बावा ने अमृतसर में की। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने बताया कि मेरिट हासिल करने वाले विद्यार्थियों को 100 फीसद तक स्कॉलरशिप प्रदान की जाएगी, जिसके लिए चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी द्वारा 27 करोड़ का स्कॉलरशिप बजट भी आरक्षित रखा गया है। विद्यार्थी यूनिवर्सिटी के 109 प्रोग्रामों में स्कॉलरशिप प्राप्त कर सकते हैं। इस मौके पर पुनीत शर्मा, बरखा महाजन, चंदनदीप सिंह आदि मौजूद थे।

तीन पड़ावों में बांटी गई है टेस्ट की प्रक्रिया

टेस्ट प्रक्रिया को गोल्ड सिल्वर और ब्रांज तीन पड़ावों में बांटा गया है। 25 अक्टूबर से पहले पड़ाव की रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हुई थी, जोकि 20 दिसंबर तक मुकम्मल कर ली जाएगी। जनवरी के पहले सप्ताह में टेस्ट के परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे। दूसरा पड़ाव जनवरी से अप्रैल और तीसरा पड़ाव मई से जुलाई तक मुकम्मल कर लिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!