जागरण संवाददाता, अमृतसर

फताहपुर जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के गुर्गे व बी ग्रेड के गैंगस्टर अकुल खत्री से जेल प्रशासन ने सोमवार की रात सर्च अभियान के दौरान 10,170 रुपये बरामद किए हैं। बताया जा रहा है कि उक्त आरोपित ने यह राशि जेल में बंटने वाले नशे के बदले एकत्र की है। फिलहाल जेल का कोई अधिकारी इस बारे में बोलने को तैयार नहीं है। उधर, इस्लामाबाद थाने की पुलिस ने असिस्टेंट जेल सुप¨रटेंडेंट सुखदेव ¨सह के बयान पर मेहता निवासी अकुल खत्री के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

जेल सुप¨रटेंडेंट अर्षदीप ¨सह गिल ने इतना ही बताया कि मामले की जांच की जा रही है। उधर, एसीपी क्राइम पल¨वदर ¨सह ने बताया कि अकुल खत्री को जल्द जेल से प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार कर पूछताछ की जाएगी कि वह जेल में नशा किसके इशारे पर बेच रहा है।

जेल प्रबंधन को सूचना मिली थी कि जग्गू का राइट हैंड कहा जाने वाला गैंगस्टर अकुल खत्री जेल में नशे का कारोबार कर रहा है। उसने कैदियों और हवालातियों को नशा बेचकर 10 हजार रुपये से ज्यादा पैसे एकत्र किए हैं और उसे अपनी बैरक में छुपाकर रखा है। इसी आधार पर जेल प्रशासन ने छापेमारी के दौरान उक्त राशि जब्त कर ली। गौर रहे अकुल खत्री के कब्जे से जेल प्रशासन ने कुछ दिन पहले मोबाइल भी बरामद किया था। पुलिस ने आरोपित का मोबाइल कब्जे में लेकर साइबर शाखा को भेज दिया है ताकि पता लगाया जा सके अकुल खत्री जेल में रहते हुए किन लोगों के संपर्क में है। कौन है अकुल खत्री

बीते साल तरनतारन में हुई गैंगवार के दौरा मारे गए गैंगस्टर बंबीहा के साथ मुठभेड़ में अकुल खत्री गोली लगने से जख्मी हो गया था। तब आरोपित के साथी उसे छोड़कर भाग खड़े हुए थे। तब पुलिस ने उसे घायल हालत में गिरफ्तार कर अस्पताल में इलाज करवाया था। ज्ञात रहे अकुल खत्री साल 2014 में मारे गए संजीव बब्बा हत्याकांड में भी आरोपित है। वीरवार को अदालत ने बब्बा हत्याकांड में जग्गू भगवानपुरिया और उसके साथी मंदीप को बरी कर दिया था। जबकि अकुल खत्री आज भी भगोड़ा घोषित है।

Posted By: Jagran