जागरण संवाददाता, अमृतसर: राज्य में आचार संहिता लागू होने के साथ ही अधिकतर राजनीतिक पार्टियों ने लगभग प्रत्याशी भी घोषित कर दिए हैं, मगर कुछ एक दलों ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं, क्योंकि उनका मानना है कि जब सभी पार्टियां अपने सभी प्रत्याशी घोषित कर देंगी, तो उनके मुकाबले में टक्कर देने वाले प्रत्याशियों को मैदान में उतारेंगी। कला के क्षेत्र से जुड़े कलाकारों का कहना है कि भले ही कोई पार्टी हो या फिर कोई प्रत्याशी, मगर वोट उसी पार्टी व प्रत्याशी को देंगे, जोकि अपनी नहीं बल्कि वोटरों व समाज की भलाई पहले चाहेगा। सब्जबाग दिखाने वालें नेताओं को न दें वोट

आचार संहिता लागू हाने से पहले पिछले दिनों सब्जबाग नाटक से लोगों को जागरूक किया गया था, जिसकी हर तरफ प्रशंसा हुई थी। लोगों को चाहिए कि सब्जबाग दिखाने वाले नेताओं को मुंह न लगाएं। किसी लालच में आकर अपने साथ-साथ अपने बच्चों का भविष्य खराब न करें, क्योंकि भविष्य हमारे हाथ में है। -जतिदर बराड़, पंजाब नाटशाला। नेता वही अच्छा जो देश और प्रजा हित में सोचे

एक नेता वो ही अच्छा नेता है, जो देश की प्रजा व समाज के हित में काम करे। ऐसे वादे नहीं होने चाहिए, जोकि कभी भी पूरे नहीं हो सकते हैं। नेताओं को चाहिए कि वे चुनाव जीतने के लिए अपने वोटरों के साथ वादे करते हुए ध्यान में रखें कि क्या वे उसे पूरा कर पाएंगे। वादों व दावों का नेता सच्चा हो। -केवल धालीवाल, विरसा विहार सोसायटी। पांच साल बादल मिलता है मौका, सोच समझ कर डालें वोट

व्यक्ति को पांच सालों के बाद वोट डालने का अवसर मिलता है, जिसे सभी वोटरों को सोच समझकर इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि देश व समाज की भलाई चाहने वालों को ही वोट करना चाहिए। समाज का युवा वर्ग हो या फिर बुजुर्ग दोनों को ही अपने इलाके के प्रत्याशी को परखने के बाद ही वोट करें। -हरिदर सोहल, यूएन एंटरटेनमेंट। लोगों को मतदान के लिए अवश्य प्रेरित करें

मतदान का अधिकार हमें बहुत ही संघर्ष के बाद मिला है। इसलिए देश और समाज की बेहतरी के लिए वोट के हक का इस्तेमाल जरूरी है। खास कर नौजवान वोटरों को इस लोकतांत्रिक अमल के साथ जरूर जुड़ना चाहिए। अपने मां-बाप और पारिवारिक सदस्यों को मताधिकार का प्रयोग करने के लिए प्रेरित करें। -शिवदेव सिंह, आर्ट गैलरी। बिना किसी प्रलोभन के करें मताधिकार का प्रयोग

लोगों को बिना किसी लालच के ही वोट करना चाहिए। क्योंकि यदि हम अपना वोट नहीं डालेंगे तो देश व समाज का नुक्सान ही होगा, क्योंकि एक वोट न पड़ने की वजह से अयोग्य नेता जीतकर आगे बढ़ जाएगा। इसलिए बिना किसी प्रलोभन के अपने मताधिकार का प्रयोग जरूर करें। -गुरिदर सिंह, रेडियंस मंच। प्रत्याशियों को जांच परख कर ही करें मतदान

लोगों को चाहिए कि वे पार्टीबाजी से ऊपर उठकर एक अच्छे प्रत्याशी को वोट करें। लोगों को चाहिए कि चुनावी मैदान में उतरे प्रत्याशियों को देखकर व जांचकर वोट करें। यहीं नहीं जो पार्टी या प्रत्याशी एक वोटर की निलामी लगाकर वोट लेने की सोचते हैं, उन्हें कतई वोट न करें, क्योंकि वे कुछ भी नहीं संवारेंगे। -जगदीश सचदेवा, नाटघर।

Edited By: Jagran