जासं, अमृतसर : भारत विकास परिषद के प्रधान नोनिश बहल ने जिले में बढ़ रहे कोरोना के केसों पर चिता जताई है। उन्होंने डिप्टी कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा से जिले में सख्ती बरतने की मांग की है। उन्होंने कहा कि प्रशासन की तरफ से नई गाइडलाइन जारी की गई थी, लेकिन उन गाइडलाइन का कोई पालन नहीं किया जा रहा है। शहर के विभिन्न बाजारों में भीड़ उमड़ रही है और वहां पर शारीरिक दूरी का भी कोई पालन नहीं किया जा रहा है। इतना ही नहीं लोग मास्क तक भी नहीं लगा रहे है। मास्क न पहनने वालों पर भी कार्रवाई नहीं की जा रही है। इन दिनों चुनाव चल रहें है तो बिना मास्क वालों पर कार्रवाई भी नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि शहर के कई स्कूल भी इस समय में लगे हुए और वहां पर बच्चों के साथ-साथ स्टाफ को बुलाया जा रहा है। स्कूल प्रबंधन जिला प्रशासन के निर्देशों का साफ ही उल्लंघन कर रहा है और उन लोगों पर अभी तक कोई कार्रवाई ही नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि वीरवार को शहर में 731 के करीब कोरोना मरीज आए थे, जिसमें से 100 से अधिक बच्चे थे। इतनी भारी संख्या में बच्चों के कोरोना पाजीटिव होने के लिए कौन जिम्मेवार है। उन्होंने कहा कि पहले ही लापरवाही के कारण हम बहुत कुछ गंवा चुके है, लेकिन इसके बावजूद भी लोग समझ नहीं रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को समझाने के लिए जिला प्रशासन को सख्ती से काम करना होगा। उन्होंने अपील की है कि कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करवाया जाए, ताकि कोरोना की बढ़ रही चेन को रोका जा सके।

Edited By: Jagran