जेएनएन, अमृतसर। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) के दफ्तर के बाहर धरने पर बैठे अलग-अलग जत्थेबंदियों के सदस्यों को SGPC की टास्क फोर्स ने मंगलवार दोपहर को जबरन उठाने का प्रयास किया। टास्क फोर्स ने प्रदर्शनकारियों की लाठियां छीनकर उन्हें वहां से हटाना चाहा, जिससे टास्क फोर्स व जत्थेबंदियों के बीच हिंसक झड़प हो गई। इस दौरान संतोष सिंह नाम का निहंग जख्मी हो गया।

बता दें, कुछ लोग SGPC की ओर से की गई बैरिकेडिंग के बाहर ही धरना देे रहे थेेे, जिन्हें टास्क फोर्स ने उठाने का प्रयास किया। वहीं, गत दिवस से ही काफी संगत SGPC के दफ्तर के बाहर धरने पर बैठे हुई है, लेकिन किसी की उन पर नजर न पड़े, इसलिए SGPC ने चारों तरफ टिन लगा दी थी। अब कुछ और लोग बैरिकेडिंग के बाहर आकर बैठ गए। उनको हटाने के लिए ही टास्क फोर्स ने बल का प्रयोग किया। 

अमृतसर श्री गुरु ग्रंथ साहिब के गायब स्वरूपों के मामले को लेकर सत्कार कमेटियों व पंथक संगठनों के संयुक्त गठजोड का शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के साथ गत दिवस टकराव होना प्रशासनिक समझदारी के चलते असफल हो गया था। प्रदर्शनकारी पंथक सगठनों के कार्यकर्ता देर शाम तक SGPC के मुख्य कार्यालय तेजा सिंह समुद्री हाल के बाहर धरने पर बैठे रहे।

प्रदर्शनकारियों के 7 प्रतिनिधियों का एक प्रतिनिधिमंडल SGPC के अधिकारियों से बात करने के लिए गया। प्रतिनिधिमंडल ने अपना 9 मांगों का ज्ञापन अधिकारियों को सौंपा। कुछ मांगों पर सहमति न बनने के कारण प्रदर्शनकारी पंथक संगठनों व सत्कार कमेटियों के गठजोड़ ने अपना धरना व प्रदर्शन तब तक जारी रखने का एलान किया, जब तक श्री गुरु ग्रंथ साहिब के गायब 382 स्वरूपों के मामले में दोषी पाए गए सभी कर्मचारियों और अधिकारियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज नहीं हो जाती।

पंथक कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन के दौरान SGPC का कोई भी सदस्य और पदाधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा। मामले को हल करवाने के लिए सदस्यों ने अपने अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर दी। तय किए गए प्रोग्राम के अनुसार श्री गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार कमेटी पंजाबी, हवारा कमेटी, सिख यूथ फेडरेशन, अलाइंस आफ सिख संगठन, जत्था सिर लत्थ खालसा, सिख यूथ पावर आफ पंजाब के कार्यकर्ता शुरू श्री हरिमंदिर साहिब के गुरुद्वारा दीवान मंजी साहिब हाल में बैठक करने के लिए परिसर में प्रवेश करने लगे तो श्री हरिमंदिर साहिब के बाहर तैनात SGPC की टास्क फोर्स और पंजाब पुलिस के सिविल कपडों में तैनात कर्मचारियों ने उनको अंदर जाने से रोक दिया।

बावजूद इसके पंथक सगठनों के कार्यकर्ता अलग अलग रास्तों से दीवान मंजी साहिब हाल के बाहर जैसे ही पहुंचे तो वहां तैनात SGPC की टास्क फोर्स के सदस्यों ने हाल के दरवाजों को ताले लगा दिए, क्योंकि प्रदर्शनकारी वहां बैठ कर आंदोलन की रूपरेखा तैयार करना चाहते थे। काफी समय तक वह दीवान हाल के बाहर बैठे सतनाम वाहेगुरु का जाप करते रहे। इसके बाद बाहर से और भी कार्यकर्ता आए गए तो सभी प्रदर्शनकारी SGPC के मुख्य कार्यालय तेजा सिंह समुद्री हाल के बाहर धरने पर बैठ गए।

प्रदर्शनकारियों के सात प्रतिनिधियों को SGPC के अधिकारियों ने SGPC के अध्यक्ष गोबिंद सिंह लोंगोवाल के निजी सचिव महिंदर सिंह आहली समेत अन्य अधिकारियों के साथ बातचीत करवाई । प्रदर्शनकारियों ने अपनी 9 मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। जिनका अधिकारियों ने लिखित जवाब दिया, परंतु प्रदर्शनकारी SGPC अधिकारियों के जवाब से संतुष्ट न हुए।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!