जासं, अमृतसर: खालसा कालेज गवर्निग कौंसिल (केसीजीसी) ने श्री गुरु हरिकृष्ण साहिब का प्रकाश पर्व कालेज कैंपस स्थित गुरुद्वारा साहिब में मनाया। इसमें केसीजीसी के आनरेरी सचिव राजिदर मोहन सिंह छीना ने भी पहुंचे। उन्होंने कहा कि गुरु साहिब ने अपनी बाल गुरुयाई के तीन साल के समय में जिस सूझ, समझदारी व दिलेरी से सिख पंथ की अगुआई की, वह मिसाल है।

उन्होंने दर्शाया कि उम्र, बुद्धिमत्ता व आत्म ज्ञान में कोई बाधा नहीं है। प्रत्येक व्यक्ति को गुरु महाराज के दिखाए मार्ग पर चलते हुए सरबत के भले के लिए काम करने चाहिए। रंजीत एवेन्यू स्थित खालसा कालेज इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों ने इलाही बाणी का कीर्तन गायन करके आई संगत को निहाल किया जबकि सिख विद्वान और खालसा कालेज सीनियर सेकेंडरी स्कूल के प्रिसिपल डा. इंद्रजीत सिंह ने श्री गुरु हरिकृष्ण साहिब के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि गुरु जी ने दुखी-बीमारों की दिन रात सहायता करके मिसाल पेश की है। छीना ने खालसा कालेज के प्रिसिपल डा. महल सिंह, उक्त स्कूल के प्रिसिपल निर्मलजीत कौर के साथ मिल कर शबद गायन करने वाली छात्राओं को सिरोपा भेंट करके सम्मानित किया।इस मौके पर केसीजीजी के संयुक्त सचिव अजमेर सिंह हेर, सदस्य परमजीत सिंह बल, सर्बजीत सिंह होशियारनगर, गुरप्रीत सिंह गिल, प्रि. डा. सुरिदरपाल कौर ढिल्लों, प्रि. डा. सुरिदर कौर, प्रि. डा. आरके धवन, प्रि. डा. हरप्रीत कौर, प्रि. डा. जसपाल सिंह, प्रि. डा. कंवलजीत सिंह, डा. मंजू बाला, प्रि. डा. हरभजन सिंह, प्रि. एएस गिल, प्रि. पुनीत कौर नागपाल, प्रि. नानक सिंह, प्रि. डा. कमलजीत कौर, प्रि. गुरिदरजीत कंबोज आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran