जागरण संवाददाता, अमृतसर : भारतीय जनता पार्टी एससी मोर्चा के जिला प्रधान संजीव कुमार ने दलित नेता चरनजीत सिंह चन्नी को पंजाब का मुख्यमंत्री बनाकर चुनावों में दलितों का वोट हासिल करने की राजनीति की है। कांग्रेस को चुनावों से कुछ महीने पहले ही दलित सीएम बनाने का फैसला क्यो लेना पड़ा। साढ़े चार साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद कुछ महीनों के लिए दलित सीएम बनाकर वह सिर्फ और सिर्फ औछी राजनीति करने वाली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार अपनी साजिशों में कामयाब होने वाली नहीं है, क्योंकि पंजाब की जनता कांग्रेस सरकार से दुखी हो चुकी है और वह बदलाव चाहती है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने पंजाब में दलित मुख्यमंत्री देने का एलान किया था, जिससे डरकर कांग्रेस को पंजाब का सीएम दलित बनाना पड़ा है। जबकि आज तक वह दलितों को साइडलाइन करती रही है। उन्होंने कहा कि नवनियुक्त मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी दलितों की उम्मीदों पर कितना खरा उतरेंगे यह तो समय ही बताएगा, क्योंकि पंजाब में वह कुछेक महीनों के लिए ही मुख्यमंत्री बने हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब में दलितों पर काफी अत्याचार हुआ है। अमृतसर, तरनतारन और गुरदासपुर जिले में जहरीली शराब पीने से 126 के करीब लोगों की मौत हुई थी, जिसमें 114 लोग दलित थे। इस मामले में अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है, सिर्फ मृतक के परिवारों को एक-एक लाख रुपये का मुआवजा देकर सरकार ने अपनी छवि साफ करने की कोशिश की, जिन लोगों ने यह शराब सप्लाई की थी, वह अभी तक गिरफ्तार नहीं किए गए। छोटे कारिदों को ही पुलिस ने अभी तक गिरफ्तार किया है।

Edited By: Jagran