अमृतसर, जेएनएन। मशहूर बॉलीवुड एक्‍टर अनु कपूर ने फिल्‍मी दुनिया में मी टू को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने कहा कि बहुत लोगाें के साथ मी टू हुआ। सच्‍चाई का दूसरा पहलू यह भी है कि बहुत से लोगाें ने यह अभियान शुरू हाेेने पर बहती गंगा में हाथ धोया। उन्‍हें तो इस पर कोई डर नहीं।

अनु कपूर यहां एक फिल्‍म की शूटिंग के सिलसिले में अाए हुए हैं और 'साडा पिंड' कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्‍होंने कार्यक्रम के दौरान 'रात भी, नींद भी, कहानी भी, हाय, क्या चीज है, जवानी भी' पंक्तियां गायकर अपनी जवानी के दिनों को याद किया। उन्‍होंने कार्यक्रम में अपने खास अंदाज से युवाओं में जोश भर दिया। कार्यक्रम दौरान उन्होंने कई गीत गाकर लोगों को मंत्र मुग्ध किया।

'साडा पिंड' कार्यक्रम के दौरान अनु कपूर।

अनु कपूर ने मी-टू प्रकरण में कुछ कलाकारों के नाम आने पर पूछे गए सवाल पर कहा कि यह मुहिम गलत नहीं है। बहुत सारे लोगों के साथ मी-टू हुआ है। लेकिन यह भी सच है कि बहुत से लोगों ने बहती गंगा में हाथ भी धोया है। वह इस विषय पर खुलकर बोलते हैं और किसी का उन्हें कोई डर नहीं। उन्‍होंने 'साडा पिंड' कार्यक्रम को एक  मिसाल बताया। उन्‍होंने कहा कि उनका सपना है कि भारत का हर गांव इसी तरह खूबसूरत बने। भारत के किसानों हालत आज के समय में बेहद खराब है। वह भी जल्द ही इतना समृद्ध हो जाए कि अमेरिका के सबसे बड़े रेस्टोरेंट में बैठ कर कड़क चाय पीता हुआ दिखाई दे।

'साडा पिंड' कार्यक्रम के दौरान अनु कपूर।

अनु कपूर ने कहा कि इंसान को अपना किरदार इस तरह का बनाना चाहिए कि बुढ़ापे में भी जाकर उसकी खूबसूरती में कोई कमी न आए, बल्कि पहले से भी ज्यादा यंग दिखाई दे। केवल शरीरिक तौर पर ही जवान दिखना जरूरी नहीं है बल्कि विचारों को युवा बनाए रखना चाहिए। इसमें शर्त यह है कि उन विचारों में कुछ भी गलत नहीं होना चाहिए। हमें जीवन को भरपूर जीना चाहिए, साथ ही यह भी नहीं भूलना चाहिए कि कुछ जिम्मेदारियां भी हैं। ये जिम्‍मेदारियां परिवार, समाज और देश के प्रति हैं।

'साडा पिंड' कार्यक्रम के दौरान अनु कपूर।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha