जागरण संवाददाता, अमृतसर

शराब के बड़े कारोबारी राजीव कुमार उर्फ राज कुमार उर्फ बब्बा शरीफपुरिया को सीआइए स्टाफ की पुलिस ने मंगलवार की सुबह उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। हरियाणा और चंडीगढ़ की 392 बोतल अवैध शराब पकड़ी जाने के मामले में न्यायाधीश मुकेश कुमार की अदालत ने आरोपित बब्बा को 17 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। उधर, मामले की जांच कर रहे इंस्पेक्टर व¨वदर महाजन ने बताया कि पूछताछ में आरोपित ने कई अहम खुलासे किए हैं। जिन पर पुलिस काम कर रही है। आने वाले दिनों में अमृतसर में अवैध शराब की तस्करी के बड़े खुलासे हो सकते हैं। आरोपित बब्बा के वकील विजय कुमार गुप्ता ने बताया कि वह आने वाले दिनों में बब्बा की जमानत याचिका अदालत में दायर कर देंगे।

पुलिस ने बताया कि बब्बा के शराब के कारोबार में आरोपित साथी शादी लाल की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। गौर रहे पुलिस ने शनिवार को शराब के कारोबारी राज कुमार उर्फ बब्बा शरीफपुरिया के चालक बलदेव ¨सह को गिरफ्तार किया था। बलदेव के ट्रक से पुलिस ने चंडीगढ़ और हरियाणा राज्य की 392 पेटी शराब बरामद की थी। पुलिस का आरोप है कि बब्बा शरीफपुरिया अन्य राज्यों से सस्ती शराब मंगवाकर शहर में बिकवा रहा है। इसके साथ ही वह सरकार के रैवेन्यू को भी नुकसान पहुंचा रहा है।

बब्बा के जेल जाने के बाद पुलिस की ड्रामेबाजी भी हुई खत्म

सारे प्रकरण में पुलिस की भूमिका बड़ी अजीब रही। शनिवार को बब्बा शरीफपुरिया, उसके करीबी शादी लाल और ट्रक चालक बलदेव ¨सह के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। बब्बा पर मंत्री का हाथ होने के कारण पुलिस अधिकारियों ने उसे घटना स्थल पर गिरफ्तार नहीं किया। पुलिस ने स्वयं बब्बा की वीडियो बनाई और फिर उसे वायरल किया। इसके बाद पुलिस ने मंगलवार की सुबह बब्बा को गिरफ्तार कर लिया।

Posted By: Jagran