जागरण संवाददाता, अमृतसर

फताहपुर जेल में बंद कई मामलों में नामजद भू¨पदर ¨सह उर्फ ¨भदा डान ने अपने साथियों के साथ मिलकर जमकर गुंडागर्दी की। आरोपित ने अपने चार साथियों के साथ मिलकर जेल में बंद अपने रंजीत ¨सह राणा पर हमला कर दिया। मारपीट में रंजीत ¨सह नाम के हवालाती को मामूली चोटें लगी हैं। लेकिन जेल में शोर मच जाने के कारण सुरक्षा कर्मी घटना स्थल पर पहुंच गए और उन्होंने मारपीट पर काबू पा लिया। उधर, असिस्टेंट जेल सुप¨रटेंडेंट भू¨पदर ¨सह के बयान पर इस्लामाबाद थाने की पुलिस ने तरनतारन के हरिके पत्तन स्थित पट्टी रोड निवासी रवि कुमार, पंडोरी वड़ैच गांव निवासी भू¨पदर ¨सह उर्फ ¨भदा डॉन, जस¨वदर ¨सह, गुरदासपुर के खैहरा गांव निवासी चमन लाल और तरनतारन के पट्टी गांव निवासी ब¨रदर ¨सह उर्फ बाउ के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आरोपितों की तलाशी के दौरान जेल प्रबंधन ने एक मोबाइल भी बरामद किया है। असिस्टेंट जेल सुप¨रटेंडेंट ने पुलिस को बताया कि चमन लाल की जेल में ही बंद गुरदासपुर के घुमान गांव निवासी रंजीत ¨सह उर्फ राणा के साथ पुरानी रंजिश चल रही थी। शुक्रवार को रंजीत ¨सह राणा जैसे ही अपनी बैरक से बाहर निकला तो उक्त पांचों आरोपितों ने उसे घेर लिया और मारपीट करने लगे। इस बीच अन्य कैदियों और हवालातियों ने शोर मचा दिया और जेल के सुरक्षा कर्मियों को इस बाबत पता लग गया। घटना के बारे में पता चलते ही असिस्टेंट जेल सुप¨रटेंडेंट जो¨गदर ¨सह मौके पर पहुंचे। गार्ड की सहायता से रंजीत ¨सह को आरोपितों की पकड़ से बाहर निकाला गया। मारपीट में रंजीत ¨सह को मामूली चोटें आई हैं। गौर रहे ¨भदा डॉन के खिलाफ पहले भी मारपीट के मामले दर्ज हैं। डिप्टी जेल सुपरिंटेंडेंट हिम्मत शर्मा ने बताया कि भिंदा डॉन मूल रूप से फिरोजपुर का रहने वाला है। उसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं।

Posted By: Jagran