जासं, अमृतसर: थाना बी डिवीजन के अधीन पड़ते चौक करोड़ी निवासी बैंक कर्मी रविदर सिंह उर्फ रवि ने शुक्रवार की रात फंदा लगाकर जान दे दी। रविदर का शव उसके घर में शुक्रवार की सुबह फंदे से लटकता मिला। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है। एएसआइ हरजीत सिंह ने बताया कि मृतक के कब्जे से किसी तरह का सुसाइड नोट नहीं मिला है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद और तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जा रही है।

प्रिस ने बताया कि रविदर सिंह उर्फ रवि उसका दोस्त है। वह पहले एचडीएफसी बैंक में काम करता था और अब पंजाब नेशनल बैंक की इंश्योरेंस शाखा में ड्यूटी कर रहा था। लगभग एक साल पहले रविदर सिंह की शादी जालंधर की युवती के साथ हुई थी। घर में रविदर की मां बीमार है और चल फिर भी नहीं सकती। लगभग सात महीने पहले रविदर की पत्नी झगड़ा करके मायके चली गई थी। वह आ नहीं रही थी। रविदर ने पत्नी को वापस बुलाने के लिए पुलिस को शिकायत दी थी लेकिन पत्नी ने जालंधर स्थित महिला थाने में शिकायत दर्ज करवा दी। इसके बाद रविदर ज्यादा परेशान रहने लगा। प्रिस ने आरोप लगाया कि पिछले कुछ दिनों से रविदर के ससुराल वाले उसे ज्यादा तंग कर रहे थे। शुक्रवार को जब वह घर पहुंचा तो उसे पता चला कि रविदर सिंह ने घर में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है।

Edited By: Jagran