संवाद सहयोगी, अमृतसर

लड़कियों क भीतर आत्मविश्वास पैदा करने के उद्देश्य तथा किसी भी तरह की समस्या की शिकायत करने हेतु नगर पुलिस एक वाट्सएप ग्रुप बनाने जा रही है। इसमें महिला पुलिस अधिकारी के इलावा स्कूलों व कालेजों की लड़कियों को जोड़ा जाएगा। उक्त जानकारी पुलिस कमिश्नर एसएस श्रीवास्तव ने वीरवार को स्वरूप रानी सरकारी कालेज वूमैन में नारी सशक्तिकरण, नशों की रोकथाम तथा पुलिस की कार्य प्रणाली बारे बताने हेतु करवाए गए समागम में दी। उन्होंने कहा कि थाना सिविल लाइन में एक महिला एसआइ तैनात की गई है, जो कि कालेज की लड़कियों को वाट्सएप ग्रुप के साथ जोड़ेगी। इस ग्रुप में किसी भी किस्म की कोई समस्या हो, उस संबंधी शिकायत अथवा जानकारी ग्रुप में शेयर की जा सकेगी ताकि उस पर तुरंत कार्रवाई की जा सके। कालेज की छात्राओं को किसी तरह की समस्या आती है तो सूचित करें। उन्होंने कहा कि महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं तथा वह छेड़छाड़ जैसी घटनाओं का सामना करने में समर्थ बनें। अगर कोई भी उनसे छेड़छाड़ करता है तो उसकी सूचना तुरंत परिवार, अध्यापक व पुलिस को देनी चाहिए ताकि समय अनुसार बड़ी घटना होने से बचा जा सके। इस तरह के समागमों के साथ कालेज की लड़कियों का पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ेगा तथा वह किसी तरह के मामले संबंधी पुलिस को निडर होकर सूचित कर सकेगी। पुलिस कमिश्नर ने कालेज की छात्राओं व स्टाफ को ट्रैफिक नियमों की पालना करने संबंधी भी आग्रह किया। उन्होने कहा कि छात्राओं को अपने भाई बहन, रिश्तेदारों को भी रिश्तेदारों को भी ट्रैफिक नियमों के प्रति जागृत करे ताकि सड़क दुर्घटनाओं से बचा जा सके।

एसीपी रीचा अग्निहोत्री ने शक्ति एप के जरिए औरतों को अपनी सुरक्षा किस तरह करनी चाहिए उसके बारे में विस्तृत जानकारी दी। समागम में नशे के खिलाफ कालेज की छात्राओं ने एक नाटक पेश किया। इसके बाद छात्राओं ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के थीम को लेकर एक लघु नाटक पेश किया। इस अवसर पर ¨प्रसिपल नूतन शर्मा, डीसीपी अमरीक ¨सह पवार, डीसीपी जगमोहन ¨सह, एडीसीपी गौरव तुरा, एडीसीपी लखबीर ¨सह, एडीसीपी जगजीत ¨सह वालिया, एडीसीपी हरजीत ¨सह, एडीसीपी दिलबाग ¨सह, एसीपी सर्बजीत ¨सह, कुलवंत ¨सह, सतनाम ¨सह गिल, सविता सचदेवा, गीता शर्मा, सुख¨वदर कौर आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran