जागरण संवाददाता. अमृतसर। स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने शुक्रवार की सुबह भारत-पाकिस्तान सीमा के पास हेरोइन तस्करी के आरोप में दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से तलाशी के दौरान पांच किलो हेरोइन बरामद की गई है। पता चला है कि इस कन्साइनमेंट के तार जेल से जुड़े हैं। जेल में बंद एक कुख्यात तस्कर बाहर अपने गुर्गों के मार्फत हेरोइन तस्करी करवा रहा था।

एसटीएफ के एआइजी रछपाल सिंह और डीएसपी वविंदर महाजन ने बताया कि फिरोजपुर जेल में बंद सुखजिंदर सिंह नाम का अंडर ट्रायल कैदी जेल से ही हेरोइन तस्करी का गोरखधंधा चला रहा था। सुखजिंदर के कहने पर फिरोजपुर के धर्मपुरा गांव निवासी मिंटू सहोता और कश्मीर सिंह का बेटा मिंटू (दोनों आरोपितों का एक ही नाम) कार में सवार होकर तरनतारन बाईपास पर खेप लेकर पहुंचे थे कि एसटीएफ की टीम ने उसे दबोच लिया।

जेल से नेटवर्क चला रहा था आरोपित सुखजिंदर

एक बार फिर यह साबित हो गया है कि पंजाब की जेलें नशा तस्करों और गैंगस्टरों के मोबाइल पर बात करने पर लगाम नहीं लगा पा रही हैं। आरोपित सुखजिंदर सिंह जेल से ही पूरा नेटवर्क चला रहा था। एसटीएफ के एआईजी रक्षपाल सिंह ने बताया कि फिरोजपुर जेल में बंद सुखजिंदर सिंह से जेल प्रबंधन ने मोबाइल बरामद कर लिया है। जेल में बंद सुखजिंदर सिंह पहले भी नशा तस्करी के केस में नामजद हैl

एक दिन पहले तरनतारन में मिले थे दस पिस्तौल

बता दें इससे पहले सीआइ की टीम तरनतारन के क्षेत्र से अलग-अलग जगहों से दस पिस्तौल जमीन में दबे बरामद किए थे। इसके साथ ही अमृतसर देहाती पुलिस एक तरनतारन के योगराज नाम के तस्कर के एक टिफिन बम (आइईडी) दो एके-56, एक पिस्तौल, मैगजीन, 36 कारतूस, दो किलो हेरोइन, एक लाख की भारतीय करंसी औ कार भी बरामद कर चुकी है। सुरक्षा एजेंसियों की तरफ से लगातार तस्करों और पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ के एजेंटों का नेटवर्क लगातार ध्वस्त किया जा रहा है।

Edited By: Pankaj Dwivedi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट