जागरण संवाददाता, अमृतसर

दैनिक जागरण द्वारा आइडीएच मार्कीट की 15 करोड़ की सरकारी जगह पर दरगाह-मंदिर के नाम पर हुए कब्जे का मामला उठाया था। जिसका निगम ने कड़ा संज्ञान लिया है। मेयर कर्मजीत ¨सह ¨रटू व कमिश्नर सोनाली गिरि के निर्देशों पर ज्वाइंट कमिश्नर नितिश ¨सगला के नेतृत्व में निकली टीम ने तड़के सुबह दरगाह—मंदिर की जगह पर बनी हुई दीवारें गिराते हुए उसका कब्जा ले लिया, वहीं आधा दर्जन के लगभग अन्य जगहों पर हुए कब्जों को भी हटाया। कार्रवाई को लेकर टीम को लोगों के विरोध का भी सामना करना पड़ा, लेकिन उन्होंने अपना अभियान जारी रखा।

तड़के सुबह साढ़े चार बजे ज्वाइंट कमिश्नर नितिश ¨सगला के नेतृत्व में एमटीपी न¨रदर शर्मा, एस्टेट आफिसर सुशांत भाटिया, एटीपी जगदेव ¨सह, एटीपी कृष्णा, लैंड सुपरिटैंडेट जस¨वदर ¨सह, इंस्पेक्टर केवल कृष्ण, जसपाल ¨सह, आफताब भाटिया, सु¨रदर शर्मा सोनू आदि थाना रामबाग के पुलिस फोर्स लेकर निकली। टीम ने आइडीएच मार्केट स्थित दरगाह—मंदिर के नाम पर हुए कब्जे को हटाया और घोषणा की कि जल्द ही इस कमर्शियल साइड की नीलामी की जाएगी। उसके बाद टीम मोरावाला चौंक में निगम की जमीन पर अवैध रूप से बन रही नौ दुकानों को गिराने पहुंची। एमटीपी विभाग ने कुछ दिन पहले ही यह निर्माण करवाया था और आज इसे भी ध्वस्त कर दिया गया। रेलवे स्टेशन गोलबाग के सामने निगम की पार्किग वाली 1200 गज जगह पर हो रहे धार्मिक निर्माण को विभाग ने धाराशाही किया और पावरकॉम से इसका बिजली का कनेक्शन काटने को भी कहा। यहां पर बने एक अवैध खोखे को भी गिरा दिया। रिगो ब्रिज के नजदीक कई सालों से हुए 150 गज जगह पर बने अवैध मंदिर को तस्वीरों हटाते हुए टीम ने लैंटर गिरा दिया। ग्वाल मंडी में भी एक अवैध खोखे के आगे हुए कब्जे को डिच से ध्वस्त कर दिया गया।

तीनों मार्कीटों के अवैध कब्जे निशाने पर

आइडीएच मार्कीट, न्यू आइडीएच मार्कीट और शहीद भगत ¨सह मार्कीट में दुकानदारों द्वारा नियमों के खिलाफ किए गए निर्माण आने वाले समय में विभाग के निशाने पर रहने वाले है। विशेषकर अपनी दुकानों के आगे के फुटपाथों, अवैध बेसमेंट और सड़क पर निर्माण करवाकर उसे आगे पगड़ी पर दे, नफा कमाने वाले जल्द नपेंगे। विभाग ने साफ कर दिया है कि बि¨ल्डग बायलॉज को अवहेलना करने वालों के रजिस्ट्री नहीं की जाएगी। आइडीएच मार्कीट में ट्यूबवेल वाली जगह का भी एस्टेट विभाग ने 14 मई को आरटीआई का जवाब देते हुए स्टेट्स क्लीयर कर दिया है कि उस जगह का मालिक निगम है और यह जगह किसी को अलाट नहीं की गई।

पुतलीघर में लोगों ने किया विरोध

उधर, पुतलीघर ग्वालमंडी में कार्रवाई करने पहुंची विभागीय टीम को विरोध का सामना करना पड़ा। खोखे के आगे हुए कब्जे को हटाने के बाद लोग इकट्ठे हो गए और पूरे क्षेत्र में हुए अवैध कब्जों का हवाला देते हुए उन्होंने गरीबों से धक्केशाही के आरोप लगाए। उन्होंने खोखों के आगे से उठाए गए सामान को निगम के ट्रक से उतारने का भी प्रयास किया, जिस पर टीम ने ट्रक भगा लिया। प्रदर्शनकारियों की पुलिस व निगम अधिकारियों से खासी बहस हुई। सुभाष पठान, रघुबीर ¨सह, तरलोचन ¨सह ने आरोप लगाया कि एस्टेट विभाग के कर्मचारी जानबूझ कर खोखाधारकों को परेशान कर रहे हैं, जबकि पुतलीघर, ग्वालमंडी चौक में अतिक्रमण के हालात किसी से छिपे हुए नहीं हैं। महत्वपूर्ण बाक्स... 83ए फोटो

बहुमंजिला कमर्शिलय निर्माण के आरोप

पूर्व पार्षद मीनू सहगल ने रानी का बाग रिहायशी क्षेत्र में पुराने फूड सप्लाई आफिस के सामने कमर्शियल निर्माण करने के आरोप लगाए है। उन्होंने कहा कि बिना नक्शे के यह निर्माण हो रहा है और इसकी शिकायत एमटीपी विभाग को भी की गई थी, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। एरिया एटीपी लखबीर ¨सह ने बताया कि उनके इस क्षेत्र में आने से पहले का यह निर्माण है। वर्तमान में इसे कम्पाउंड कर दिया गया है। प्रबंधकों ने विश्वास दिलवाया है कि वह रिहायशी निर्माण कर रहे है, वहां कोई कमर्शियल गतिविधि नहीं होने दी जाएगी। कोट्स...

निगम की जगहों पर कब्जे बर्दाश्त नहीं : ¨सगला

नगर निगम की संपत्तियों पर किसी भी प्रकार का कब्जा बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आज इसके तहत ही सुबह कार्रवाई की गई है। आधा दर्जन जगहों पर कार्रवाई करते हुए इनका कब्जा लिया गया है। भविष्य में भी यह अभियान जारी रहेगा। लोग सड़कों पर किसी भी प्रकार का अतिक्रमण न करे। वर्ना कड़ी कार्रवाई से परहेज नहीं किया जाएगा।

—नितिश ¨सगला, ज्वाइंट कमिश्नर

Posted By: Jagran