फोटो: 52

जागरण न्यूज नेटवर्क, अमृतसर

सेहत विभाग में काम करने वाले विभिन्न जत्थेबंदियों के नेताओं की एक संयुक्त बैठक बाबा शमसेर ¨सह कोहरी की अध्यक्षता में सिविल सर्जन कार्यालय में हुई। जिसमें पीसीएमएम एसोसिएशन के प्रधान डा. मदन मोहन विशेष तौर पर शामिल हुए। बैठक में पंजाब सरकार के सेहत विभाग द्वारा विभिन्न् पीएचसी, सीएचसी अर्बन पीएचसी तथा अन्य सेहत संस्थाओं को निजी हाथों में देने के फैसले का विरोध करने के लिए रुपरेखा बनाई गई। हैल्थ इंस्पेक्टर यूनियन के प्रधान गुरदेव ¨सह ढिल्लों तथा फार्मासिस्ट नेता अशोक शर्मा ने बताया कि सरकार के इस फैसले के साथ जहां गांव के लोगों का उपचार करना मंहगा हो जाएगा, वहीं कुछ बड़े घरानों को गरीब लोगों का शोषण करने का लाइसेंस मिल जाएगा। उन्होने कहा कि सरकार कर्मचारी व आमजन के विरुद्ध लिया गया फैसला वापिस लेना चाहिए। सरकार के इस फैसले के विरोध में 28 जनवरी को सिविल सर्जन कार्यालय में रोष प्रर्दशन किया जाएगा। इस मौके पर निर्मल ¨सह, आरके देवगन, गुरदेव ¨सह, राजबीर ¨सह, बलजीत ¨सह, जगतार ¨सह, सुखदेव ¨सह, जोरावर ¨सह, प्रभदीप ¨सह, बलदेव ¨सह, कशमीर ¨सह, दिलप्रीत ¨सह आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!