जागरण न्यूज नेटवर्क, अमृतसर

वर्ष 2014 में इराक के मोसुल शहर में मारे गए 39 भारतीयों के परिवारों की बैठक कंपनी बाग में हुई। बैठक में होशियारपुर, जालंधर, नवां शहर, गुरदासपुर, बटाला, अमृतसर के परिवार शामिल थे। बैठक में सरकार की ओर से परिवारों से किए धोखे व अपने वायदे पर खरा न उतरने संबंधी बातचीत की गयी। जिसमें पीड़ित परिवारों ने अपनी मांगों को लेकर बातचीत की व होशियारपुर के एक परिवार ने कहा कि उनको नौकरी दी जा चुकी है पर उसमें 5300 रुपये मासिक वेतन व तीन साल का प्रोविजनल पीरियड रखा गया है। सरकार ने परिवार के सदस्यों की योग्यता के आधार पर नौकरी देने का वायदा किया था पर पांचवीं, दसवीं व बारहवीं पास वालों को एक ही स्केल पर वेतन मिल रहा है। हरेक सदस्य की योग्यता के आधार पर ही नौकरी दी जाए। सरकार ने वायदा किया था कि जब तक नौकरी नहीं मिलती तब तक बीस हजार रुपये महीना खर्चा दिया जाएगा पर पांच महीने से वह नहीं मिला। इस मौके पर सरवन ¨सह, मनीष शर्मा, लक्की, जोगा ¨सह आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!