अमृतसर, जेएनएन। श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के मद्देनजर 90 देशों के राजदूत गुरुनगरी अमृतसर पहुंचे। उन्‍होंने श्री दरबार साहिब में दर्शन किए और माथा टेका। पाकिस्‍तान के उच्‍चायुक्‍त को भी इस दौरे के लिए न्‍यौता दिया गया था, लेेकिन वह नदारत रहे। राजदूतों के शिष्‍टमंडल ने श्री हरिमंदिर साहिब परिसर का अवलोकन किया और लंगर भवन भी गए। इस मौके पर उनको एसजीपीसी की ओर से सम्‍मानित किया गया। राजदूतों ने श्री दरबार साहिब परिसर में सामूहिक तस्‍वीरें भी खिचवाईं। उनकाे भव्‍य समारोह में सम्‍मानित किया गया।

राजदूतों के लिए आयोजित समारोह के बाद केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि यह ऐतिहासिक मौका है कि 90 देशों के श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व के संदर्भ में श्री दरबार साहिब आए हैं। इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ है। पाकिस्तान के राजदूत के नहीं आने इस संबंध में उन्होंने कहा, हमने सभी देशों के राजदूतों को आमंत्रित किया था। हो सकता है वह व्यस्त हों। श्री करतारपुर साहिब जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए पाकिस्तान द्वारा 20 डालर की फीस लगाए जाने के मामले में उन्होंने कहा कि यह ठीक नहीं है। हर सरकार का फर्ज बनता है कि वह श्रद्धालुओं को अधिक से अधिक सुविधाएं दे।

इससे पहले उनका श्री गुरु रामदास जी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचने पर भव्‍य स्‍वागत किया गया। वहां से सभी राजदूत श्री हरिमंदिर साहिब में दर्शन के लिए रवाना हुए। उनके साथ केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी भी थे। वे हरदीप पुरी की अगुवाई में दरबार साहिब में दर्शन के लिए पहुंचे।

श्री गुरु रामदास अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डा पर पहुंचे। वहां उनका पारंपरिक तरीके से स्‍वागत किया गया। इसके बाद उनका काफिला हेरिटेज स्ट्रीट के लिए रवाना हुआ। उन्‍होंने श्री हरिमंदिर साहिब में  माथा टेका और इसके बाद अन्‍य स्‍थलों के अवलोकन के लिए रवाना हुए। उनके साथ केंद्रीय मंत्री हरदीप सिह पुरी भी थे। सांसद गुरजीत सिंह औजला भी राजदूतों के काफिले के साथ थे।

विदेशी राजदूतों को इंटरप्रिटेशन सेंटर में राजदूतों को 3D प्रेजेंटेशन के जरिए श्री गुरु रामदास जी द्वारा बसाई गई गुरु नगरी और श्री दरबार साहिब के इतिहास की जानकारी दी गई। लगभग पौना घंटा शिष्टमंडल ने इंटरप्रिटेशन सेंटर में जानकारियां हासिल की।

राजदूतों के लिए श्री हरिमंदिर साहिब के घंटाघर वाली साइड पर स्थित गोल्डन प्लाजा में समारोह के वास्‍ते विशाल टैंट लगाया गया था। समारोह में सभी राजदूतों को सम्‍मानित किया गया। एसजीपीसी के मुख्य सचिव डॉ. रूप सिंह सहित अन्‍य पदाधिकारी मौजूद थे।

डॉ. रूप सिंह ने बताया कि एसजीपीसी अध्यक्ष गोबिंद सिंह लोंगोवाल राजदूतों का स्वागत करने के बाद राजदूतों को सम्मानित किया गया। सुरक्षा के मद्देनजर पंडाल में सिविल वर्दी में महिला और पुरुष पुलिसकर्मी व एसजीपीसी की टास्क फोर्स तैनात किया गया था।

डॉ. रूप सिंह ने कहा कि यह पहली बार है कि इतनी बड़ी संख्या में किसी रूहानियत के स्थान को देखने के लिए राजदूत अलग-अलग देशों से पहुंचे। श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर यह एक बढ़िया संदेश दुनिया भर में जा रहा है। इस दौरान श्री हरिमंदिर साहिब व सिख कौम के इतिहास की भी जानकारी इन राजदूतों की दी गई।

 पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!