जेएनएन, अमृतसर। दिल्ली में आम आदमी पार्टी की प्रचंड जीत के बाद सुखबीर बादल सक्रिय हो गए हैं। अकाली दल की मजबूती के लिए वह कदम बढ़ाने लगे हैं। सुखबीर वीरवार को अचानक पूर्व सांसद डॉक्टर रतन सिंह अजनाला और उनके बेटे पूर्व सीपीएस अमरपाल सिंह बोनी से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। लगभग आधे घंटे की मंत्रणा के बाद सुखबीर सिंह बादल ने अमरपाल सिंह बोनी को सिरोपा देकर सम्मानित कर पार्टी में दोबारा शामिल किया। इस दौरान सुखबीर ने डॉ. अजनाला से भी आशीर्वाद भी लिया।

इस घटनाक्रम के बाद बोनी सुखबीर बादल के साथ बाहर आए और सीधे राजासांसी में आयोजित विशाल जन विरोधी रैली में शामिल होने पहुंचे। बताया जा रहा है कि रतन सिंह अजनाला भी अकाली दल में शामिल हो गए हैं। हालांकि वह रैली में शामिल होने नहीं आए। वहीं, जब इस संबंध में अजनाला से पूछा गया तो वह बात को गोलमोल कर गए। उन्होंने कहा कि सुखबीर उनका हालचाल जानने आए थे। वहीं, सुखबीर ने कहा कि बहुत खुशी है के अजनाला परिवार फिर से अकाली दल बादल में शामिल हो गया है।

बता दें, अजनाला परिवार की अकाली दल से सुलह के बाद टकसाली नेताओं के लिए यह तगड़ा झटका माना जा रहा है। अकाली दल अपनेे विरोधी टकसाली अकाली नेताओं में सेंधमारी में जुटा है।

अमृतसर से संबंधित वरिष्ठ अकाली नेताओं रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा के नेतृत्व में यही अकाली दल टकसाली का गठन हुआ था। इसके गठन में पूर्व सांसद डॉक्टर रतन सिंह अजनाला और उनके बेटे पूर्व सीपीएस अमरपाल सिंह बोनी सहित वरिष्ठ नेताओं ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। सुखबीर बादल के साथ बैठक के बाद अजनाला परिवार दोबारा अकाली दल में चला गया है। इसे अकाली दल टकसाली को बड़ा आघात माना जा रहा है।

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!