जागरण संवाददाता, अमृतसर : मंडी में गेहूं बेचने के लिए आने वाली मुश्किलों ने निजात पाने के लिए किसानों की सुविधा को मुख्य रख प्रशासन ने कंट्रोल रूम स्थापित कर दिए है। किसान फसल को अचानक आग आदि लगने व किसी तरह की अन्य मुश्किल आने पर कंट्रोल रूम से फोन नंबर और वाट्सएप नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं। अमृतसर के डीसी गुरप्रीत सिंह खैहरा ने इसके कंट्रोल रूम से संपर्क करने के लिए फोन नंबर 9646106836 और वाट्स एप नंबर 9646106835 जारी किए है। साथ ही हिदायत की है कि किसान निर्धारित से अधिक नमी वाला गेहूं मंडियों में लेकर न आए। नहीं तो उनकी फसल को बचने के वक्त क्वालिटी कट लगेगा और पैसे भी कम मिलेंगे। हिदायत की गई है कि गेहूं की नमी 12 प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिए। सरकार के आदेशों पर 10 अप्रैल से जिले की सभी मंडियों में गेहूं की सरकारी खरीद शुरू हो रही है। प्रशासन ने जिले में 57 खरीद केंद्र स्थापित कर दिए है। किसान खुद भी कर सकते है नमी की जांच जिला कृषि अधिकारी डा. कुलजीत सिंह सैनी ने कहा कि गेहूं की कटाई मुकम्मल होने पर तूड़ी बनाने के लिए रीपर का उपयोग नहीं करना चाहिए। नमी वाली गेहूं की नाड़ की तूड़ी बनाते समय कई बार आग लग जाती है। इससे कई बार गेहूं, गेहूं की फसल, नाड़ और तूड़ी को भी आग लग जाती है। इसलिए गेहूं की कटाई का काम मुकम्मल होने पर ही तूड़ी बनाई जाए। जरूरत पड़ने पर किसानों को फायर ब्रिगेड विभाग से तुरंत संपर्क करना चाहिए।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021